मंदिर-मस्जिद विवाद पर बोले मौलाना महमूद मदनी, कहा- बातें अखंड भारत की करते हो और...

नई दिल्ली: मंदिर-मस्जिद विवाद के बीच शनिवार (28 मई 2022) को उत्तर प्रदेश के देवबंद में जमीयत उलेमा-ए- हिंद का सम्मेलन हुआ। इस दौरान जमीयत के प्रमुख मौलाना महमूद मदनी देश में जारी मंदिर-मस्जिद विवाद पर भावुक हो गए। उन्होंने इसे देश के लोगों को बांटने वाला बताया है। मदनी ने रोते हुए कहा कि बातें तो अखंड भारत की करते हैं, पर सब चीजें बांटने का प्रयास करते हैं।

ईदगाह मैदान पर मौलाना महमूद मदनी ने भावुक स्वर में कहा कि हमें अपने ही मुल्क में अजनबी बना दिया गया है। उन्होंने मुस्लिमों से अपील करते हुए कहा है कि हम आग से आग नहीं बुझा सकते। प्यार से नफरत को हराया जा सकता है। मौलाना मदनी ने अपने भाषण में देश की बात करते हुए सामाजिक एकता पर बल दिया। इसके साथ ही उन्होंने मंदिर-मस्जिद के मुद्दे पर जारी महाभारत पर दुख भी प्रकट किया।

सम्मेलन को संबोधित करते हुए मदनी ने कहा कि जो नफरत के पुजारी हैं, आज वो अधिक दिखाई दे रहे हैं। यदि हमने उन्हीं के लहजे में जवाब देना शुरू किया तो वो अपने मकसद में सफल हो जाएंगे। जमीयत के प्रमुख ने कहा कि हम हर चीज से समझौता कर सकते हैं, मगर ईमान से समझौता बर्दाश्त नहीं है। वो देश को अखंड भारत बनाने की बात करते हैं, पर देश में मुसलमान का पैदल चलना भी दुश्वार कर दिया है। वो देश के साथ दुश्मनी कर रहे हैं।

क्या महात्मा गांधी की विनती मानेंगे मुसलमान ? कहा था- हिन्दुओं के धर्मस्थल उन्हें लौटा दो...

सन्यास लेंगे इस्लाम त्यागकर हिन्दू बने वसीम रिज़वी, अखाड़े को दान कर सकते हैं संपत्ति

क्या रद्द हो जाएगा 1991 का Worship Act ? सुप्रीम कोर्ट में दाखिल हुई 7वीं याचिका

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -