जमात नेता ने बांग्लादेश में सांप्रदायिक हमले का गुनाह किया कबूल

ढाका: जमात-ए-इस्लामी नेता कमालुद्दीन अब्बासी ने इस महीने की शुरुआत में बांग्लादेश के हाजीगंज में एक दुर्गा पूजा मंडप पर हमले में अपनी संलिप्तता स्वीकार कर ली है। उसने गुरुवार शाम चांदपुर के वरिष्ठ न्यायिक दंडाधिकारी मोहम्मद कमालुद्दीन की अदालत में अपना कबूलनामा किया। चांदपुर के पुलिस अधीक्षक मिलन महमूद ने कहा कि अपने बयान में उन्होंने घटना में शामिल अन्य लोगों के नामों का भी खुलासा किया।

13 अक्टूबर को रात 8 बजे के बाद आतंकवादियों के एक समूह ने हाजीगंज बाजार मंदिर पर हमला किया था। पुलिस ने स्थिति को नियंत्रित करने का प्रयास किया तो हमलावरों से झड़प हो गई। इसके बाद हुई हिंसा में कुल पांच लोग मारे गए थे। हमले के सीसीटीवी फुटेज में अब्बासी को हिंसा का नेतृत्व करते हुए दिखाया गया है।

राष्ट्रव्यापी हिंसा के 10 मामलों में 5,000 से अधिक अज्ञात व्यक्तियों को आरोपी बनाया गया है, और पुलिस ने अब तक 29 लोगों को गिरफ्तार किया है। महमूद के अनुसार, अन्य अपराधियों को पकड़ने के लिए अभियान जारी है।

चारधाम यात्रा: 6 नवंबर को केदारनाथ और 20 को बंद होंगे बदरीनाथ के कपाट

बारिश के बाद अब बर्फ ने बढ़ाई उत्तराखंड की परेशानी, 13 ट्रेकर्स की गई जान

उत्तराखंड में फिर मंडराए संकट के बादल, IMD ने जारी की भारी बारिश की चेतावनी

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -