सत्याग्रह के 18वें दिन टूटी प्रशासन की नींद, पूछा क्या है आपकी मांगे!

Apr 29 2015 09:16 AM
सत्याग्रह के 18वें दिन टूटी प्रशासन की नींद, पूछा क्या है आपकी मांगे!

मध्य प्रदेश/खंडवा : मध्य प्रदेश के खंडवा जिले में चल रहा जल सत्याग्रह मंगलवार को 18वें दिन भी जारी रहा, मंगलवार को तहसीलदार ने मौके पर पहुंचकर सत्याग्रहियों से उनकी मांगें पूंछीं। वहीं चिकित्सकों के एक दल ने सत्याग्रहियों के स्वास्थ्य का परीक्षण किया। ओंकारेश्वर बांध का जलस्तर बढ़ाए जाने के विरोध में 11 अप्रैल से घोगलगांव में जल सत्याग्रह चल रहा है।

मंगलवार को इस सत्याग्रह का 18वां दिन था। पानी में पड़े सत्याग्रहियों की हालत लगातार बिगड़ रही है, उसके बाद भी सत्याग्रही अपनी मांगों से पीछे हटने को तैयार नहीं है। घोगलगांव में चल रहे जल सत्याग्रह स्थल पर मंगलवार को सरकार की ओर से तहसीलदार मुकेश काशिव ने पहुंचकर विस्थापितों की मांग लिखी।

विस्थापितों की मांग है कि प्रभावितों को सर्वोच्च न्यायालय के आदेश व पुनर्वास नीति की कंडिका 54 के अनुसार न्यूनतम पांच एकड जमीन उपलब्ध कराई जाएं। उनकी यह भी मांग है कि घर भूखंड एवं अन्य पुनर्वास की समस्याओं का समाधान भी तत्काल किया जाए, गत सात जून 2013 के पैकेज के भी कुछ आदेशों का आज तक पालन नहीं हुआ है उसका भी तत्काल पालन किया जाए।

खंडवा के मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ़ पनिका, खंड चिकित्सा स्वास्थ्य अधिकारी डा़ॅ गगन दिलवारे, स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. अजय पाली, डॉ़ सुनील और डा़ॅ संजय पटेल ने मंगलवार को सत्याग्रह स्थल पर आकर जल सत्याग्रहियों का स्वास्थ्य परीक्षण किया। उन्होंने सत्याग्रहियों से इलाज कराने का आग्रह किया, जिसे सत्याग्रहियों ने फिर यह कहकर ठुकरा दिया कि उनका इलाज उनकी मांगें हैं।