जैन मुनि तरुण सागर का निधन : विवादों से भी रह चुका है नाता

Sep 01 2018 11:08 AM
जैन मुनि तरुण सागर का निधन : विवादों से भी रह चुका है नाता

नई दिल्ली। प्रसिद्ध जैन मुनि तरुण सागर महाराज का आज सुबह 51 वर्ष की उम्र में दुखद निधन हो गया है। वे कई दिनों से थे गंभीर बीमारी से जूझ रहे थे।  वे  नई दिल्ली के मैक्स अस्पताल में भर्ती थे। उनके निधन की खबर सामने आने के बाद से सिर्फ जैन समुदाय ही नहीं बल्कि पूरे भारत समेत दुनिया भर में उनके अनुयायी शोक में डूबे हुए है। अपने धार्मिक प्रवत्ति के लिए जाने जाने वाले मुनि तरुण सागर का नाम कुछ विवादों से भी जुड़ चुका है। 

 

जैन मुनि तरुण सागर महाराज का निधन : ऐसा था उनका जीवन

तरुण सागर महाराज ने मिथम्पा मोहल्ला सरपरा बाजार के जैन मंदिर परिसर में पत्रकारों के साथ वार्तालाप के दौरान भारतीयों द्वारा बच्चे पैदा करने को लेकर एक विवादित बयान दिया था जिसे लेकर काफी  विवाद हुआ था। अपने बयान में उन्होंने कहा था कि भारत के लोगों को केवल दो बच्चे ही पैदा करने चाहिए और इसे लेकर एक कानून बनना चाहिए। उन्होंने यह भी कहा था कि यदि कोई इसके खिलाफ जाता है, तो उनसे वोट देने का अधिकार छिन लेना चाहिए। 

पीलिया के कारण तरुण सागर ने गंवाई अपनी जान, जानिए क्या है इस बीमारी के लक्षण

मशहूर बॉलीवुड संगीतकार विशाल ददलानी ने हरियाणा विधानसभा में तरुण सागर द्वारा दिए गए उपदेश पर सवाल उठाया था और जिसे लेकर उन्हें जैन समुदाय और  तरुण सागर के अनुयायियों द्वारा कानूनी परेशानी का भी सामना करना पड़ा था। इसके बाद उन्होंने माइक्रो ब्लॉगिंग वेबसाइट ट्विटर पर  तरुण सागर से माफ़ी भी मांगी थी।इसी तरह कांग्रेस नेता और राहुल गाँधी की रिश्तेदार तहशीन पूनावाला ने भी तरुण सागर की नग्नता सवाल उठाते हुए एक ट्वीट किया था जिसपर बहुत विवाद हुआ था। 


ख़बरें और भी 

जलेबी खाते हुए ही संत बन गए थे तरुण सागर महाराज!!

पढ़े जैन मुनि तरुण सागर महाराज के सबसे विवादित और कड़वे वचन

मुनि तरूण सागर जी 'अच्छे दिन' को लेकर कही थी यह बात

?