सागर में जैन समाज ने किया शिवसेना के खिलाफ विरोध प्रदर्शन

Sep 14 2015 12:57 PM
सागर में जैन समाज ने किया शिवसेना के खिलाफ विरोध प्रदर्शन

सागर : सागर के वर्णी भवन मोरजी में चातुर्मास के दौरान उपाध्याय निर्भय सागर महाराज ने कहा कि उद्धव ठाकरे के बयान से समस्त जैन समाज कि भावनाओ को ठेस पहुंची है. इसलिए सकल जैन समाज कि और से यहाँ कहा गया है कि उद्धव अपने शब्द वापिस ले ले और उनसे क्षमा मांगे. इस दौरान उपाध्याय के आशीर्वाद से अहिंसा संरक्षण समिति का गठन किया गया. और सागर के 68 जैन मंदिरो के पदाधिकारियों ने समस्त जैन समाज के साथ मिलकर एक निंदा प्रस्ताव जिला अधिकारी को भेजा. एवं मुख्यमंत्री को भी एक पत्र भेजा गया, जिसमे पर्युषण के दौरान 10 दिन तक मांस बिक्री पर बैन लगाने की मांग की गई.

रविवार को सुबह शास्त्री वार्ड में माता खेरमाई मंदिर में युवा सिवशेना की बैठक हुई. जिसमे जिला प्रमुख पप्पू तिवारी ने कहा की शिवसेना के संस्थापक बाला साहेब स्वयं शाकाहारी थे तो फिर उनका बीटा कैसे मांसाहार का समर्थन कर सकता है. बाला साहब ने जैन धर्म से प्रेरणा लेकर महाराष्ट्र में वध शालाएं बंद करवाई थी. इस बैठक में निर्णय लिया गया की पर्युषण और गणेशोत्सव पर अगर इन मांस की दुकानो पर प्रतिबन्ध नहीं लगाया गया तो शिवसेना इन दुकानो को हटाएगी.इस मौके पर विवेक पटेल, दीपचंद जैन, रामदास पटेल, सचिन जैन, वैजंती शिल्पी आदि लोग मौजूद थे. जैन समाज के इन लोगो ने नमक मंडी में राज ठाकरे और उद्धव ठाकरे के खिलाफ विरोध प्रदर्शन किया.