जगन्नाथ पूरी पहला ऐसा मंदिर है जहाँ भगवान अपनी मौसी के घर जाते हैं

जगन्नाथ पूरी पहला ऐसा मंदिर है जहाँ भगवान अपनी मौसी के घर जाते हैं
Share:

जगन्नाथ पुरी की रथ यात्रा के बारे में आप सब ने सुना होगा और शायद जाते भी होंगे वहां। जगन्ननाथ पूरी में हर साल ये यात्रा निकाली जाती है। जगन्नाथ पुरी ओडिशा में स्थित है जो कि समुद्र के किनारे बसा है। ये टूरिस्ट को बहुत प्रभावित करता है। इसी से जुड़े कुछ रोचक तथ्य आपको बताने जा रहे हैं हम।

* ये एक ऐसा मन्दिर है जहाँ तीनो भाई बहन एक साथ होते हैं यानी श्री कृष्णा,बलराम और उनकी बहन सुभद्रा।

* दुनिया का ये पहले मंदिर है जिसकी मूर्तियों को एक जगह से दूसरी जगह लेजाया जाता है।

* इस यात्रा के 7 दिन पहले मंदिर के पट बंद कर दिए जाते हैं क्योंकि यहाँ भगवान का बीमार पड़ जाते हैं और उनके स्वास्थय के सुधर के लिए उन्हें मौसी के घर ले जाया जाता है।

* हर वर्ष तीन नए रथों को बनाया जाता है जिनके नाम होते हैं -नंदीघोष (भगवान जगन्नाथ) ,तलध्वज (भगवान बलभद्र) और देवदालान (माता सुभद्रा) .

* ऐसा भी कहा जाता है कि यात्रा के दौरान भगवान् आगे जाने से मना कर देते हैं जिसके कारण बहुत ज़ोर लगाने से रथ आगे बढ़ता है।

रिलेटेड टॉपिक्स
- Sponsored Advert -
मध्य प्रदेश जनसम्पर्क न्यूज़ फीड  

हिंदी न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_News.xml  

इंग्लिश न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_EngNews.xml

फोटो -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_Photo.xml

- Sponsored Advert -