युवाओं को बेचते थे नशीले इंजेक्शन, जबलपुर पुलिस ने किया गिरोह का पर्दाफाश

Jul 23 2020 05:29 PM
युवाओं को बेचते थे नशीले इंजेक्शन, जबलपुर पुलिस ने किया गिरोह का पर्दाफाश

जबलपुर: मध्य प्रदेश के जबलपुर की हनुमानताल थाना पुलिस ने नशीले इंजेक्शन बेचने वाले एक गिरोह का भंडाफोड़ किया है. इस गिरोह का एक सदस्य को गिरफ्तार किया गया है. गिरफ्तार किए गए आरोपी से बड़े पैमाने पर नशीले इंजेक्शन और सिरिंज बरामद हुई हैं, किन्तु नशे के इस काले धंधे का मुख्य सरगना भागने में सफल हो गया है. फिलहाल पुलिस गिरफ्तार किए गए आरोपी से पूछताछ कर इसके बाकी के साथियों के बारे में पता लगा रही है.

पुलिस का कहना है कि उन्हें मुखबिर से जानकारी मिली थी. मुखबिर ने बताया था कि चार खंबा बूढ़ी खेरमाई मंदिर के पास एक व्यक्ति नशीले इंजेक्शन बेचने में की कोशिश में है. जिसके बाद पुलिस मौके पर पहुंची और नशीला इंजेक्शन बेच रहे शख्स को दबोच लिया. पुलिस का कहना है कि तलाशी लिए जाने पर उसके पास से LUPICGESIC 2ML के 20, ALERVIL 10ML के 50 नशीले इंजेक्शन और 18 सिरिंज बरामद हुई है. वहीं पूछताछ में आरोपी का नाम इरशाद अहमद पता चला है. इरशाद ने पूछताछ में बताया कि नशे के इस कारोबार का मुख्य सरगना मुख्तार कंजा है, उसी के इशारे पर वह शहर में नशीले इंजेक्शन बेच रहा था.

ये गिरोह 16 से 22 साल के युवकों को निशाना बना उन्हें नशे की लत लगाते थे. फिर ऊँची कीमतों में बेच मुनाफा कमाते थे. इरशाद अहमद ने बताया कि वो 16 से 22 वर्ष तक के युवकों को सुनसान इलाको में नशे की आपूर्ति करता था. बहरहाल हनुमानताल थाना पुलिस मुख्तार कंजा की खोजबीन में जुटी हुई है.

लॉकडाउन की सबसे दर्दनाक तस्वीर, पैसों की तंगी के चलते पिता ने अपनी 4 माह की बच्ची को बेचा

खुद को अमित शाह का PA बताता था ये शख्स, पुलिस ने किया भांडाफोड़

15 साल की बच्ची के साथ दुष्कर्म करते थे बाप और दादा, प्रेग्नेंट होने पर अदालत पहुंचा मामला