जब तक है जान

जब तक है जान

आपको याद करना रोज की बात हो गई।

आपको मिस करना आदत की बात हो गई।

आपका प्यार पाना किस्मत की बात हो गई।

पर आपको भूलना मेरे बस से बाहर की बात हो गई।

फूल की कली हो तुम खिलना नहीं।

अपने इस प्यार को कभी भूलना नहीं।

जब तक इस शरीर में जान है सनम।

कभी भी किसी से घबराना नहीं।