मछुआरों की परेशानियों का स्थायी हल निकाले केंद्र सरकार

चेन्नई : अक्सर श्रीलंका की समुद्री सीमा में चले जाने पर भारतीय मछुआरों को श्रीलंकाई सेना की कार्रवाईयों का सामना करना पड़ता है। ऐसे में भारतीय मछुआरों के लिए मछली पकड़ना और अपना जीवन निर्वहन करना काफी मुश्किलभरा हो जाता है। इस मामले में तमिलनाडु राज्य की मुख्यमंत्री जे. जयललिता ने गंभीरता दिखाई है। उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखा है।

उन्होंने देश के 28 भारतीय मछुआरों का उल्लेख भी किया और कहा कि इस तरह से मछुआरों के खिलाफ कोई भी घटना न हो इस हेतु वे मंत्रालयों को पत्र लिख रही हैं। उन्होंने कहा कि श्रीलंकाई सेना मछुआरों को पकड़ने के ही साथ उनका जाल भी ले लेती हैं साथ ही उनकी नावें भी क्षतिग्रस्त हो जाती हैं। मछुआरों के जाल भी टूटने लगते हैं ऐसे में मुछआरों का नुकसान हो जाता है।

मुख्यमंत्री जे. जयललिता ने कहा कि भारत सरकार को इस तरह की परेशानियों का स्थायी हल तलाशना होगा। दूसरी ओर उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से भी इस मामले में यही कहा कि श्रीलंका से करीब 96 मछुआरों और 82 नावों की रिहाई की बात तय की जाए।

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -