चाइल्ड हेल्पलाइन से सूचना मिलने पर 86 बच्चों को इटारसी में कराया आजाद

इटारसी: रेलवे ने मजदूरी के लिए नासिक लेकर जा रहे 86 बच्चों को जीआरपी और आरपीएफ ने इटारसी स्टेशन पर उतार लिया । मजदूरी के लिए लेकर जा रहे इन बच्चों से जीआरपी और आरपीएफ पूछताछ कर रही है कि उन्हें कौन और किस काम के लिए ले जा रहा था।

चाइल्ड हेल्पलाइन से जीआरपी और आरपीएफ को सूचना मिली कि रक्सौल से लोकमान्य तिलक टर्मिनस जाने वाली जनसाधारण एक्सप्रेस से बिहार के अलग-अलग क्षेत्रों से 50 बच्चों को कहीं पर ले जाया जा रहा है। यह सूचना मिलते ही जब यह ट्रेन रात करीब 10:30 बजे प्लेटफार्म 6 पर पहुंची तो जीआरपी और आरपीएफ ने ट्रेन की बोगियों की तलाशी ली.

इस दौरान करीब 86 बच्चे मिले। इन बच्चों ने बताया कि उन्हें नासिक की टमाटर फैक्ट्री में मजदूरी कराने के लिए ले जाया जा रहा था। जीआरपी डीएसपी राजेन्द्रसिंह ने बताया कि बच्चों को मजदूरी के लिए ले जा रहे तीन लोगों को पकड़ा है। इस मामले में बंधुआ मजदूरी का मामला दर्ज होगा, जो बच्चे नाबालिग है, उन्हें चाइल्ड लाइन को सौंपा जाएगा.

बच्चों की सर्चिंग के दौरान जनसाधारण एक्सप्रेस इटारसी के प्लेटफार्म नंबर 6 पर आधा घंटे तक खड़ी रही। जीआरपी और आरपीएफ ने बताया कि अगली स्टेशन खंडवा में बच्चों को तलाशने के लिए ट्रेन की सर्चिंग की जाएगी। बहरहाल जीआरपी और आरपीएफ यह पता लगाने का प्रयास कर रही है कि इतनी तादाद में बच्चों को कहां और किस काम के लिए कौन लोग लेकर जा रहे थे.

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -