पाकिस्तान जाना मेरा निर्णय, लेकिन आतंकवाद से समझौता नहींः मोदी

नई दिल्ली : मोदी सरकार ने सत्ता में अपने दो साल पूरे कर लिए है। अब सरकार ने इसे सेलिब्रेट करने के लिए एक माह का प्रोग्राम बनाया है। इस दौरान बीते दो सालों में उन पर जो भी आरोप लगे या गिले-शिकवे रहे, वो सब दूर कर देना चाहिए।

इसी कड़ी में बीते साल पीएम मोदी ने अपने पाक दौरे के बारे में कहा कि उन्होने पाकिस्तान जाने का इनिशिएटिव खुद से लिया था, लेकिन इसका ये मतलब बिल्कुल भी नहीं है कि वो आतंकवाद पर समझौता करने के लिए मान गए है। भारतीय अर्थव्यवस्था पर बोलते हुए उन्होने कहा कि दो वर्षो में उन्होने अर्थव्यवस्था को वो रफ्तार दी है, जिससे आज भारत सबसे तेज उभरने वाली अर्थव्यवस्था बन गई है।

अमेरिकी अखबार वॉल स्ट्रीट जर्नल को दिए इंटरव्यू में मोदी ने कहा कि उन्होंने दो साल में विदेशी निवेश को बढ़ावा देने, भ्रष्टाचार को रोकने और ग्रामीण इनफ्रास्ट्रक्चर को विकसित करने की दिशा में जरूरी कदम उठाए हैं। इससे देश में बिजनेस करना आसान हुआ है। उन्होंने कहा कि वास्तव में मैंने ज्यादा से ज्यादा बदलाव किए हैं।

मेरे पास खुद के लिए और भी कई जरूरी काम हैं। अगले महीने अपनी वॉशिंगटन यात्रा के दौरान मोदी अमेरिकी कांग्रेस को संबोधित करने वाले है। इस दौरान उनकी मुलाकात अमेरिकी प्रेसीडेंट बराक ओबामा से भी होगी। उऩ्होने कहा कि अब भारत वो देश नहीं है, जो एक कोन में दुबक कर खड़ा रहता है।

भूमि अधिग्रहण बिल को लेकर पूछे गए सवाल पर पीएम ने कहा कि भूमि अधिग्रहण कानून में संशोधन की केंद्र सरकार की कोशिशें पूरी हो चुकी हैंय़ राज्य सरकारें चाहें तो अपने-अपने हिसाब से इसमें बदलाव कर सकती हैं। अमेरिका यात्रा के संबंध में पीएम ने कहा कि मार्च में ओबामा ने मुझे पर्सनली इनवाइट किया था।

मेरे आग्रह पर वो भी दो बार भारत आए, इसलिए मेरा भी दायित्व बनता है। मोदी ने कहा कि जब से सत्ता संभाली है, भारत वैश्विक स्तर पर मजबूत हुआ है। जहां तक डिफेंस की बात है, जरूर भारत डिफेंस मैन्युफैक्चरिंग में आगे बढ़ना चाहता है। हमारा डिफेंस का इम्पार्ट बहुत बड़ा है।

मोदी ने अमेरिका में राष्ट्रपति पद के चुनाव के उम्मीदवार डोनाल्ड ट्रंप पर पूछे सवाल पर कहा कि चुनावी बहस में किसी सरकार को नहीं बोलना चाहिए। जीएसटी बिल पर अब भी आशान्वित मोदी सरकार ने कहा कि जल्द ही ये बिल राज्यसभा में भी पास हो जाएगा।

इकोनॉमिक रिर्फाम्स किए जा रहे हैं। फॉरेन इन्वेस्टमेंट्स के लिए नए रास्ते खोले जा रहे हैं। मोदी ने माना कि उन्हें अभी बहुत काम करना है।

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -