अंतरिक्ष में भारत की गगनभेदी चाल, एस्ट्रोसैट के साथ 6 विदेशी उपग्रह प्रक्षेपित

आंध्रप्रदेश। भारत के प्रमुख अंतरिक्ष केंद्र श्रीहरिकोटा से भारत ने एक बार फिर अंतरिक्ष में गगनभेदी उड़ान भरी । दरअसल भारत एस्ट्रो सैटेलाईट के साथ विश्व के 6 देशों के सैटेलाईट को लांच करने में भी सफल रहा। इन देशों में अमेरिका का सैटेलाईट भी शामिल रहा। इस सफलता पर वैज्ञानिकों द्वारा एक दूसरे को बधाई दी गई। इस उपग्रह को पृथ्वी की कक्षा में सफलता के साथ प्रक्षेपित कर दिया गया।

इस उपग्रह का प्रक्षेपण पीएसएलवी से किया गया। सी श्रेणी के इस उपग्रह को पीएसएलवी - सी - 30 स्तर का माना गया है। यूं तो इसकी तैयारियां काफी पहले से ही कर दी गई थीं और रविवार को इस अंतरिक्ष कार्यक्रम की उल्टी गिनती प्रारंभ हो गई थी मगर आज सुबह छह विदेशी उपग्रहों के सफल प्रक्षेपण के साथ इसे प्रक्षेपित किया गया। एस्ट्रोसैट उपग्रह विश्व को ब्रह्मांड को लेकर कई महत्वपूर्ण जानकारियां उपलब्ध करवाएगा।

इन उपग्रहों के प्रक्षेपण के बीच भारत के अंतरिक्ष अभियानों को 50 वर्ष का सफर पूर्ण हो रहा है। भारत ने एस्ट्रोसैट के साथ ही अमेरिका, इंडोनेशिया, कनाडा आदि देशों के उपग्रहों को लांच किया। उल्लेखनीय है कि भारत अन्य देशों से शुल्क लेकर 45 विदेशी उपग्रहों का प्रक्षेपण करने में सफल रहा है। इस तरह से इस उपग्रह प्रक्षेपण कार्यक्रम को अंतरिक्ष विज्ञान के क्षेत्र में भारत की आत्मनिर्भरता और विदेशों के लिए भारत की अहमियत की दिशा में बेहद महत्वपूर्ण है। 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -