11 शादियां करने पर महिला को दी दिल दहलाने वाली सजा

इस्मालिक देशों में काफी कठोर कानून व्यवस्था है जहाँ पर छोटी से गलती इंसान के लिए महंगी पड़ जाती है. ऐसे ही एक इस्लामिक देश सोमालिया में एक कट्टरपंथी विचारधारा वाला एक इस्लामिक गुट सक्रिय है जो कि उनके मज़हब के खिलाफ जाने वाले लोगों को दण्डित करता है.  सोमनिया में इस इस्लामिक कट्टरवादी गुट का नाम अल-शबाब है जो कि वहां के लोगों काफ़ी जुल्म करता है. हाल ही में इस इस्लामिक कट्टरवादी गुट अल-शबाब की शरिया अदालत ने 30 साल महिला को बेरहमी से मार डाला क्यूंकि उसने अपने जीवन में 11 बार शादी की थी. 

सोमनिया की शरिया अदालत ने 30 वर्षीय महिला शुक्ररी अब्दुलाही नाम की महिला को 11 शादियां करने के आरोप में पत्थर मार मारकर मौत के घाट उतारने की सजा सुनाई. शरिया अदालत के स्व-घोषित न्यायाधीश ने कहा कि महिला ने अपने ऊपर लगे सभी आरोपों को स्वीकार किया. महिला पर आरोप था कि उसने 11 शादियां की और अपने किसी भी पति को कभी तलाक नहीं दिया. बतौर सजा महिला को पहले गर्दन तक जमीन में गाड़ दिया गया. और फिर अल-शबाब के लड़ाकों ने उसकी पत्थर मार-मार कर जान ले ली. 

बता दें कि सोमनिया में पति चाहे तो चार पत्नियां रख सकता है लेकिन महिलाएं किसी खास वजह के चलते ही बिना तलाक लिए दूसरी शादी कर सकती है. इस्मालिक कट्टरवादी गुट अल-शबाब को आतंकी संगठन अल-कायदा का सहयोगी भी माना जाता है.

Mother's Day : 'गम की आह में' 'ख़ुशी की राह में' हर जगह "माँ" तुम ही तो हो

इंजेक्शन से आजकल लडकियां बढ़ाती हैंअपने ब्रेस्ट

सोशल मीडिया पर सबसे ज्यादा पॉपुलर होने वाले मीम्स की असलियत

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -