ISI ने डाला कई तरह का दबाव, लेकिन फिर भी नहीं झुका भारत का शेर अभिनंदन

नई दिल्ली: पाकिस्‍तान से भारत वापस लौटने के बाद इंडियन एयर फ़ोर्स के विंग कमांडर अभिनंदन वर्थमान सबसे सबसे पहले पालम हवाई अड्डे पर अपने परिवार से मिले. अब अभिनंदन की शारीरिक जांच के अलावा मानसिक स्वास्थ्य का निरिक्षण करने के लिए एक मनोवैज्ञानिक द्वारा जांच कराइ जाएगी. साथ ही ये निर्धारित किया जाएगा कि पाकिस्‍तान में उनके शरीर में कोई चिप या ऐसी ही कोई अन्य उपकरण तो नहीं लगा दिया गया है.

हैदराबाद एयरपोर्ट पर हाई अलर्ट, यात्रियों की ली जा रही गहन तलाशी

वहीं, जानकारी के अनुसार दो दिन तक पाकिस्तान में कैद रहने के दौरान पाकिस्तानी सेना और आईएसआई ने कई अवसरों पर उन्हें प्रताड़ित करने का प्रयास किया. पाकिस्तानी सेना और आईएसआई के अधिकारी निरंतर प्रयास कर रहे थे कि अगर किसी भी अवसर पर विंग कमांडर अभिनंदन कमजोर पड़ते हैं या अपनी रिहाई की भीख मांगते हैं तो सबसे पहले उनका ऐसा एक वीडियो तैयार किया जाए. इसीलिए पाकिस्तानी सेना और आईएसआई ने दो से तीन बार अभिनन्दन के अलग-अलग तरीके से वीडियो बनाए,  किन्तु पाकिस्तानी अपने मंसूबों में कामयाब नहीं हो पाए.

इस प्रदेश में दो रुपये तक महंगा हुआ सब्सिडी वाला घरेलू गैस सिलिंडर

अपनी मजबूत इरादों और जीवटता के दम पर अभिनंदन ने एयरफोर्स या देश से सम्बंधित कोई भी राज पाकिस्तान को नहीं बताया. पाकिस्तानी सेना और आईएसआई ने उन्हें उनके परिवार से लेकर हर ढंग से दबाव डालने की कोशिश की, किन्तु अभिनंदन किसी भी अवसर पर नहीं झुके. विंग कमांडर अभिनंदन के भारत वापस लौटते ही सबसे पहले उन्हें परिवार से मिलने के लिए समय दिया गया. उन्होंने अपनी माता, पिता, पत्नी और बेटे को गले लगाया. 

खबरें और भी:-

पिछले सप्ताह के मुकाबले इस सप्ताह कुछ ऐसा रहा बाजार का हाल

फरवरी में रिकॉर्ड स्तर तक बढ़ा जीएसटी का संग्रहण

इस तरह कमाएं 1 लाख रु हर माह, नेशनल इंस्टीट्यूट में करें अप्लाई

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -