इस अजीब मुद्दे पर आयरलैंड में मतदान

आयरलैंड में भारतीय मूल की गर्भवती महिला सविता हलप्पनावर को गर्भपात की अनुमति नहीं मिलने पर उसकी मौत के बाद मां की जिंदगी पर जोखिम होने पर गर्भपात की अनुमति के लिए 2013 में आयरलैंड में इस कानून में बदलाव किया गया था. पर अब फिर इस पर मंथन जारी है.

 

और इसी कारण आयरलैंड के मतदाता आज इस मुद्दे पर ऐतिहासिक जनमत संग्रह के लिए मतदान कर रहे हैं कि इस पारंपरिक कैथोलिक देश को यूरोप के कुछ कड़े गर्भपात संबंधी कानूनों को लचीला बनाना चाहिए या नहीं. यहाँ पर चुनाव पूर्व सर्वेक्षणों में कुछ ऐसे संकेत मिले हैं कि नतीजे बहुत करीबी रह सकते हैं और इसका निष्कर्ष उन मतदाताओं के हाथों में है जिन्होंने अभी मुद्दे को लेकर अपना मन नहीं बनाया है.

गौरतलब है कि आयरलैंड में बीते कुछ महीनों में सार्वजनिक बहस बढ़ने के बीच गर्भपात संबंधी कानूनों को लचीला बनाने के अभियान में तेजी आई है. अब करीब 35 लाख मतदाता इस विषय पर फैसला करेंगे कि गर्भपात पर संवैधानिक पाबंदी जारी रहनी चाहिए या इसे इसमें से हटाया जाना चाहिए. बता दें कि इस जनमत संग्रह से करीब तीन साल पहले आयरलैंड ने समान लिंग के लोगों के बीच विवाह के पक्ष में मतदान डाला था.

युवा मतदाता तय करेंगे पाकिस्तान का भविष्य

ट्रम्प फिर पलटे अपने बयान से

आज सुबह की बड़ी ख़बरें

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -