ईरान यूरेनियम संवर्धन शुरू करेगा

अमेरिका: अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की ईरान परमाणु समझौते से अलग होने की घोषणा के बाद यूरोपीय शक्तियों ने ईरानी परमाणु समझौते पर अपनी बचनबद्धता जारी रखने का संकल्प लिया है. अमेरिका ने ईरान परमाणु समझौते को भयावह और  एकतरफा करार दिया है. 

यहाँ पर ईरान के राष्ट्रपति हसन रूहानी ने कहा कि उन्होंने अपने राजनयिकों को समझौते के बाकी के हस्ताक्षर कर्ताओं के साथ बातचीत करने का निर्देश दिया है. बता दें इसमें यूरोपीय देश, रूस व चीन शामिल हैं. हसन रूहानी ने कहा कि अमेरिका के बिना भी समझौता बना रह सकता है.

बता दें कि ईरान समझौते को संयुक्त समग्र कार्ययोजना नाम से भी जाना जाता है. उन्होंने कहा कि वे समझौते के दूसरे हस्ताक्षर  कर्ताओं रूस व चीन के साथ समझौते के अनुसार निरंतर काम करना जारी रखेंगे. अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप के इस फैसले पर प्रतिक्रिया देते हुए ईरान के राष्ट्रपति हसन रूहानी ने जवाब देते हुआ कहा कि उनकी सरकार अमेरिका के समझौते से हटने के बावजूद विश्व शक्तियों के साथ परमाणु समझौते के प्रति वचनबद्ध है. लेकिन उन्होंने चेतावनी दी कि अगर समझौते के अनुसार ज्यादा समय तक उन्हें लाभ नहीं मिला तो वह फिर से  ईरान यूरेनियम संवर्धन को शुरू कर सकते है. 

मरणोपरांत राजेश पटेल को मिल सकता है द्रोणाचार्य अवार्ड

फीफा ने रूस पर लगाया इतना बड़ा जुर्माना

मैनुएल नेयुर हुए फुटबॉल वर्ल्डकप से बाहर

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -