IAEA ने कहा-"ईरान संयुक्त राष्ट्र के निरीक्षकों की तीन महीने..."

By Emmanual Massey
Feb 22 2021 10:28 AM
IAEA ने कहा-

तेहरान: संयुक्त राष्ट्र के न्यूक्लियर रेगुलेटर इंटरनेशनल एटॉमिक एनर्जी एजेंसी (IAEA) के प्रमुख ने कहा है कि ईरान संयुक्त राष्ट्र के निरीक्षकों की तीन महीने के लिए अपने परमाणु स्थलों तक पहुंच बढ़ाने पर सहमत हो गया है। लेकिन जल्द ही दलाली के समझौते से आईएईए के अधिकारियों को कम पहुंच मिलेगी और स्नैप निरीक्षण करने का उनका अधिकार समाप्त हो जाएगा। ईरानी सांसदों द्वारा मंगलवार को लागू किए गए एक कानून के तहत सरकार को IAEA के विशेषज्ञों द्वारा घोषित या अघोषित परमाणु स्थलों की अल्प सूचना पर निरीक्षण की अनुमति देने से रोकने की आवश्यकता है। 

बीबीसी ने बताया कि ईरान ने मंगलवार से अपनी पहुंच नीति में बदलाव कर रहा है क्योंकि अमेरिका ने डोनाल्ड ट्रम्प द्वारा 2015 के परमाणु समझौते को छोड़ने के बाद लगाए गए प्रतिबंधों को नहीं हटाया है। वाशिंगटन और तेहरान के पास अब समझौता करने का अधिक समय है। तत्कालीन-डोनाल्ड ट्रम्प प्रशासन ने ईरान पर प्रतिबंधों को फिर से लागू किया, और तेहरान ने 2015 में छह विश्व शक्तियों के साथ हस्ताक्षरित समझौते के तहत परमाणु गतिविधि को फिर से शुरू करके जवाबी कार्रवाई की। 

ईरान का कहना है कि जब तक अमेरिका 2015 के समझौते का पूरी तरह से अनुपालन नहीं करता, तब तक वह उपायों को उलट नहीं सकेगा। लेकिन अमेरिकी राष्ट्रपति जो बिडेन ने कहा है कि ईरान को पहले ऐसा करना चाहिए। ईरान के परमाणु कार्यक्रम पर संकट लगभग 20 वर्षों से अंतरराष्ट्रीय एजेंडे पर है। ईरान का कहना है कि उसका परमाणु कार्यक्रम शांतिपूर्ण उद्देश्यों के लिए है, जबकि अमेरिका और अन्य लोगों को संदेह है कि ईरान गुप्त रूप से परमाणु हथियार विकसित करने की क्षमता की मांग कर रहा है। ईरान ने 2015 के सौदे के तहत स्नैप निरीक्षण फिर से शुरू करने पर सहमति व्यक्त की थी, जो पहले 2006 में उन्हें निलंबित कर चुका था।

ऑस्ट्रिया में शुरू हुआ कोरोना वैक्सीन का टीकाकरण

केंद्रीय मंत्री किरेन रिजिजू और मणिपुर के मुख्यमंत्री एन बीरेन सिंह ने गलवान घाटी संघर्ष में हिम्मत दिखाने वाले कप्तान की प्रशंसा की

विश्वभर में बढ़ा कोरोना का आंकड़ा, जानिए किस शहर में आए कितने केस