ईरानी विदेश मंत्री जरीफ का भारत आगमन, तनाव कम करने में दिल्ली को बताया महत्वपूर्ण पक्ष

ईरानी विदेश मंत्री जरीफ का भारत आगमन, तनाव कम करने में दिल्ली को बताया महत्वपूर्ण पक्ष

बुधवार को अमेरिका और ईरान के बीच जारी तनाव के बीच ईरानी विदेश मंत्री जवाद जरीफ ने  दिल्ली में भारत के विदेश मंत्री एस जयशंकर से मुलाकात की. ईरानी विदेश मंत्री की भारत ​विजिट कई कारणों से अहम मानी जा रही है. कयास लगाए जा रहे कि उनकी यह विजिट खासतौर पर ईरान अमेरिका तनाव की वजह से है. बता दे कि दोनों देश के मंत्रियों के बीच खाड़ी क्षेत्र में तेजी से बदली स्थिति के बारे में विस्तार से चर्चा हुई.

भाजपा नेता ने कांग्रेसी मणिशंकर अय्यर को बताया आतंक का दूत, पाकिस्तान जाने पर खतरनाक आलोचना

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार ईरान के विदेश मंत्री ने ईरान के विदेश मंत्री जवाद जरीफ ने खाड़ी क्षेत्र की तेजी से बदलती स्थिति के बारे में विदेश मंत्री एस जयशंकर को जानकारी दी. साथ ही भारत और ईरान के समग्र संबंधों की भी समीक्षा की गई. ज्ञात हो कि रायसीना डायलॉग 2020 में शामिल होने के लिए इन दिनों ईरान के विदेश मंत्री भारत दौरे पर हैं.

जम्मू-कश्मीर: घाटी की शांति का जायजा लेने के लिए 36 केंद्रीय मंत्री ने बनाया मेगा प्लान

अपने बयान में ईरानी विदेश मंत्री जरीफ ने कहा कि खाड़ी क्षेत्र में तनाव कम करने में भूमिका निभा सकता है, क्योंकि नई दिल्ली एक महत्वपूर्ण पक्ष है. हालात के कूटनीतिक समाधान के बारे में सवाल पूछने पर जरीफ ने कहा था कि ईरान की दिलचस्पी अमेरिका से बातचीत में नहीं, बल्कि कूटनीति में है.इससे पहले ईरानी विदेश मंत्री ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से भी मुलाकात की. इस दौरान पीएम मोदी ने ईरान के विदेश मंत्री से कहा कि भारत क्षेत्र में शांति, सुरक्षा और स्थिरता के पक्ष में है. यहां 'रायसीना डॉयलाग में भाग लेने आए ईरान के विदेश मंत्री जवाद जरीफ से मुलाकात के दौरान प्रधानमंत्री मोदी ने यह बात कही. प्रधानमंत्री कार्यालय ने एक बयान में कहा, 'विदेश मंत्री ने इस क्षेत्र के हालिया घटनाक्रम पर अपने नजरिये को साझा किया. प्रधानमंत्री ने कहा कि क्षेत्र में शांति, सुरक्षा और स्थिरता में भारत की बहुत रुचि है.'

सीएम हेमंत सोरेन पर हमलावर हुई भाजपा, शिबू सोरेन ने कही यह बात

वैशाली की जनता केंद्रीय मंत्री अमित शाह के स्वागत को बेताब, भगवा रंग में डूबा सारा शहर

आईआईटी और आईआईएम का हुआ शिलान्यास, शाह बोले- हर साल पांच हजार छात्र...