तेहरान के लिए परमाणु समझौता ख़त्म होना ख़तरनाक

तेहरान: ईरान और अमेरिका के बीच परमाणु समझौता खत्म होना ईरान के लिए बहुत ही खतरनाक होगा यह कहना है  ईरान के विदेश मंत्री मोहम्मद जवाद जरीफ का. बता दें कि अमेरिका ने गत मई में घोषणा की थी कि वह 2015 के परमाणु समझौते से अलग हो रहा है. और फिर से प्रतिबंध लगा रहा है जिससे ईरान में कार्यरत अंतरराष्ट्रीय व्यापार पर असर पड़ेगा. 

 इस समझौते के अन्य पक्षों में ब्रिटेन, फ्रांस , जर्मनी , चीन और रूस ने समझौते में बने रहने की प्रतिबद्धता जतायी थी  लेकिन अमेरिका के जुर्माने के भय से अपनी कंपनियों को ईरान से हटने से रोकने में वे लोग असफल दिखाई पड़ते है. संवाद समिति इरना के अनुसार जरीफ ने ईरान चैंबर आफ कॉमर्स के सदस्यों से बोलते हुए कहा ,‘‘ जेसीपीओए परमाणु समझौता का खत्म होना हमारे लिए बहुत खतरनाक होगा. ’’ 

 

ईरान के राष्ट्रपति हसन रूहानी ने शंघाई सहयोग संगठन (एससीओ) के सालाना सम्मेलन में  कहा कि अमेरिका दूसरे देशों पर अपनी नीतियां थोपने की कोशिश कर रहा है जो सभी बड़ी शक्तियों के लिए एक चेतावनी है. उन्होंने कहा कि अमेरिका का यह एकतरफा कदम दुनिया के लिए ख़तरनाक साबित होगा. साथ ही रूहानी ने 10 जून को इस मामले में अमेरिका की आलोचना की

गूगल भी नहीं बता पाया कहाँ होता हैं लड़कियों का यह ख़ास अंग

पाक में चुनाव: वुसअतुल्लाह ख़ान का कड़वा ब्लॉग

वियतनाम में आसमानी आफत से हुई तबाही को बयान करते भयानक आंकड़े

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -