डेल्हीवरी को 7,460 करोड़ रुपये का आईपीओ जुटाने के लिए नियामकीय मंजूरी मिली

 


पूंजी बाजार नियामक भारतीय प्रतिभूति और विनिमय बोर्ड (एसईबी) ने दिल्ली की कंपनी को अपनी प्रारंभिक सार्वजनिक पेशकश (आईपीओ) के माध्यम से 7,460 करोड़ रुपये जुटाने की मंजूरी दे दी है। रेड हेरिंग प्रॉस्पेक्टस के मसौदे के अनुसार, आईपीओ में 5,000 करोड़ रुपये के इक्विटी शेयर और मौजूदा शेयरधारकों से 2,460 करोड़ रुपये के ऑफर फॉर सेल (ओएफएस) घटक शामिल होंगे।

कार्लाइल ग्रुप और सॉफ्टबैंक और डेल्हीवरी के सह-संस्थापक, "ऑफ़र फॉर सेल" (ओएफएस) के तहत लॉजिस्टिक्स कंपनी में अपने शेयर बेचेंगे। मंगलवार को नियामक के साथ एक अपडेट के अनुसार, कंपनी, जिसने नवंबर में सेबी के साथ अपने प्रारंभिक आईपीओ कागजात जमा किए थे, को 13 जनवरी को अपना अवलोकन पत्र प्राप्त हुआ।

ड्राफ्ट पेपर्स के मुताबिक, कार्लाइल ग्रुप की सीए स्विफ्ट इंवेस्टमेंट्स 920 करोड़ रुपये के शेयर बेचेगी, सॉफ्टबैंक ग्रुप की एसवीएफ डोरबेल (केमैन) लिमिटेड 750 करोड़ रुपये के शेयर बेचेगी, डेली सीएमएफ पीटीई लिमिटेड, प्राइवेट इक्विटी फर्म चीन की पूर्ण स्वामित्व वाली सहायक कंपनी है।

दिल्लीवरी के सह-संस्थापक कपिल भारती, मोहित टंडन और सूरज सहारन भी क्रमश: 14 करोड़ रुपये, 40 करोड़ रुपये और 6 करोड़ रुपये के शेयर बेचेंगे।

अमिताभ की 'ना' से टूट गई थी सलीम-जावेद की जोड़ी, जानिए क्या है पूरा मामला

जानिए कोरोना के इलाज में कौन सी दवाएं है असरदार और किन का नहीं करना है इस्तेमाल?

भारत का COVID-19 टीकाकरण कवरेज 158.04 करोड़ के पार

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -