IPL रद्द होने से हुआ भारी नुकसान, मुश्किल में घरेलू खिलाड़ी!

कोई खेल नहीं तो कोई वेतन नहीं. इस साल IPL में करार करने वाले खिलाड़ियों के साथ भी ऐसा हो सकता है, क्योंकि अभी इसे स्थगित कर दिया गया है. तब तक इसके आगे आयोजित होने की संभावना नहीं है, जब तक BCCI साल के अंत में इसकी वैकल्पिक विंडो तैयार नहीं कर लेता. आईपीएल फ्रैंचाइजी के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, ‘आईपीएल भुगतान का तरीका ऐसा है कि टूर्नामेंट शुरू होने से एक हफ्ते पहले 15% राशि दे दी जाती है. टूर्नामेंट के दौरान 65% दी जाती है. बची हुई 20% टूर्नमेंट खत्म होने के बाद निर्धारित समय के अंदर दी जाती है.BCCI के विशेष दिशानिर्देश हैं. निश्चित रूप से किसी भी खिलाड़ी को अभी कुछ नहीं दिया गया है.’

BCCI खिलाड़ी संस्था (भारतीय क्रिकेटर्स संघ) के अध्यक्ष अशोक मल्होत्रा ने स्वीकार किया कि आईपीएल के एक सत्र के नहीं होने का आर्थिक प्रभाव काफी बड़ा होगा. उन्हें लगता है कि कोविड-19 महामारी से निपटने के लिए चल रहे लॉकडाउन के चलते अगर नुकसान हजारों करोड़ों में होता है तो घरेलू खिलाड़ियों तक को भी कटौती सहनी पड़ेगी.

इस समयBCCI एक वैकल्पिक विंडो तलाश रहा है क्योंकि मई में आईपीएल कराने का मौका बहुत कम है, लेकिन अभी तक कुछ तय नहीं हुआ है. देश में इस समय 21 दिन का लॉकडाउन है जो 14 अप्रैल को खत्म होगा जबकि आईपीएल को 15 अप्रैल तक स्थगित किया गया है. कोरोना वायरस महामारी से अभी तक दुनिया भर में 37,000 से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है. इससे काफी आर्थिक उथल-पुथल हुई है, जिससे इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया के खिलाड़ियों ने स्वीकार किया कि उनके वेतन में कटौती हो सकती है.

कोरोना के खिलाफ जंग के मैदान में उतरे लॉर्ड्स, किया यह महान कार्य 

फैंस पर फूटा इस क्रिकेटर का गुस्सा, कहा- 'दान की हुई रकम के बारे में सवाल करना गलत'

क्रिकेट के दौरान नहीं पहन पाएंगे स्मार्ट वॉच खिलाड़ी, बोर्ड ने लगाई रोक 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -