निवेश के मामले में भारत ने चीन, अमेरिका को पछाड़ा

भारत निवेश के मामले में लगातार आगे बढ़ता ही जा रहा है और इसको देखते हुए ही भारत के आगे बढ़ने को लेकर नई बातें सामने आ रही है. बताया जा रहा है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के द्वारा शुरू की गई योजना "मेक इन इंडिया" के तहत देश में कई गुना निवेश किया गया है. सिर्फ यही नहीं इस निवेश के जरिये भारत ने चीन और अमेरिका जैसे देशों को भी निवेश के मामले में पछाड़ दिया है. मामले में यह बात सामने आई है कि जहाँ पहली छमाही के दौरान चीन को 28 अरब डॉलर, अमेरिका को 27 अरब डॉलर का निवेश प्राप्त हुआ है वहीँ भारत को इन दोनों देशों से ज्यादा 31 अरब डॉलर का निवेश मिला है. गौरतलब है कि 2014 में पूंजी निवेश के आधार पर जारी की गई एक रिपोर्ट के अनुसार भारत को चीन, अमेरिका, इंग्लैंड और मैक्सिको के बाद पांचवा स्थान प्राप्त हुआ था.

इसके बाद मई 2014 के दौरान विदेशी निवेश को बढाए जाने को लेकर कई महत्वपूर्ण कदम भी उठाये गए. यह कहा जा रहा है कि सरकार के इन क़दमों के तहत "मेक इन इंडिया" और "डिजिटल इंडिया" ने बहुत ही महत्पूर्ण कदम उठाया है. बाजार विश्लेषकों का इस मामले में यह कहना है कि अभी भी कई ऐसे क्षेत्र है जिनमे सरकार को अहम कदम उठाना बाकि है. गौरतलब है कि हाल ही में नरेंद्र मोदी की सिलिकॉन की यात्रा खत्म हुई है और इस दौरान भी कई नए निवेशकों को भारत में निवेश के लिए आकर्षित किया गया है. इन योजनाओं के तहत भारत विश्व की दो सबसे बड़ी अर्थव्यवस्थों को पछाड़ने में कामयाब हुआ है और निवेश के मामले में ऊपर आया है.

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -