हैदराबाद में अंतरराज्यीय गांजा बेचने के गिरोह का भंडाफोड़, 8 लोग हुए गिरफ्तार

Mar 02 2021 10:38 AM
हैदराबाद में अंतरराज्यीय गांजा बेचने के गिरोह का भंडाफोड़, 8 लोग हुए गिरफ्तार

बेंगलुरु: बेंगलूर जोन नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (एनसीबी) ने हैदराबाद में एक अंतरराज्यीय गांजा बेचने वाले सिंडिकेट का पर्दाफाश करते हुए आठ लोगों को गिरफ्तार किया और उनके पास से 681.8 किलो गांजा जब्त किया। 335 पैकेटों में जब्त गांजा महाराष्ट्र के पुणे और उस्मानाबाद जिलों के विभिन्न हिस्सों में बेचा जाना था। नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो ने बताया कि इन पैकेटों को तीन वाहनों-बोलेरो पिकअप ट्रकों से बरामद किया गया जो सब्जी परिवहन करने वाले वाहनों की तरह छलावरण करते हैं। 

एनसीबी की ओर से यहां जारी बयान के मुताबिक, गिरफ्तार की पहचान एस पवार, वी पवार, बी वेयर, एम धोत्रे, डी देशमुख, आर गुंजल, ए गांधी और एस सनप के रूप में हुई है। टीएचईएनसीबी ने कहा कि सिंडिकेट आंध्र प्रदेश के विशाखापत्तनम से इतनी बड़ी मात्रा में गांजा खरीदकर इसे बेचता था एनसीबी ने कहा कि उन्होंने टिप-ऑफ पर कार्रवाई की और तेलंगाना के रंगरेड्डी जिले में पेडा अंबरपेट टोल प्लाजा से इतनी बड़ी मात्रा में प्रतिबंधित पदार्थ जब्त किया।

एनसीबी ने बताया, "इस खेप को कंप्रेस्ड रूप में छुपाया गया था और 335 पैकेट की तरह एक ईंट में रखा गया था और भूरे रंग के चिपकने वाले टेप से लपेटा गया था। एनसीबी के मुताबिक यह खेप आंध्र-ओडिशा सीमा से गुजर रही थी और अवैध गांजा की खेती काफी हद तक नक्सल प्रभावित आंध्र-ओडिशा सीमावर्ती इलाकों में केंद्रित है। नोट में कहा गया है कि दुर्गम इलाकों और दुर्गमता से इन क्षेत्रों को कानून प्रवर्तन एजेंसियों के लिए गांजा की अवैध खेती को नष्ट करना मुश्किल हो जाता है।

बेटी के साथ छेड़खानी करने वालों के खिलाफ शिकायत करने पहुंचा पिता, अपराधियों ने उतारा मौत के घाट

परिवार के सदस्यों ने ही दिया चोरी की वारदात को अंजाम, जानिए क्या है पूरा मामला

हैकर्स ने टेक्स्ट फिशिंग स्कैम के साथ स्टेट बैंक ऑफ इंडिया यूजर्स को बनाया निशाना