इंटरनेट धोखाधड़ी से बचे

इंटरनेट धोखाधड़ी से बचे

इंटरनेट ज़िंदगी का ऐसा अहम हिस्सा बन गया है कि इसके बिना जीवन अब अधूरा लगता है। जंहा पर इंटरनेट नही है वंहा पर इंटरनेट उपलब्ध कराने की पूरी कोशिश की जा रही है। आजकल सारे काम इंटरनेट के माध्यम से ही हो जाते है फिर वो पढ़ाई करना हो या शॉपिंग करना हो या फिर किसी से नेट पर बात करना हो सारे काम इंटरनेट से ही होता है।

यह बिल्कुल सही है कि इंटरनेट का इस्तेमाल करने से हमारे सारे काम बहुत आसान हो गए है। ऐसा लगता है जैसे पूरी दुनिया एक छोटे से मोबाइल, कंप्यूटर और लैपटॉप मे आ गई है। आप जिससे चाहे उनसे बात कर सकते है, जो चाहे वो खरीद सकते है। लेकिन जितना इंटरनेट का इस्तेमाल बढ़ रहा है उतना ही साइबर क्राइम का खतरा भी बढ़ रहा है। 

आप एटीएम से पैसे निकालते है तो पासवर्ड देते है। कुछ लोग क्लोन बना लेते है क्लोन का मतलब होता है कि ऐसा एटीएम जो बिलकुल आपके एटीएम जैसा ही दिखता है। कुछ लोग आपका पासवर्ड चुरा सकते है आपके पैसे निकाल सकते है। आपने अपने एटीएम कार्ड मे एक काली पट्टी देखी होगी जिसमे बैंक की जानकारी छिपी रहती है। जो साइबर अपराधी होते है वे आपकी जानकारी क्लोन बनाकर आपका अकाउंट खाली कर सकते है। इन परेशानियों से बचाने के लिये बैंक ने अब चिप वाला एटीएम कार्ड निकाला है जिसका साइबर अपराधी क्लोन नही बनवा सकते है।

इंटरनेट का इस्तेमाल करते समय आपको कुछ बातों का ध्यान रखना चाहिये। जानते है उन बातों को।

1 जब भी आप कोई वेब साइड खोलते है तो उसकी url मे https जरूर देख लेना चाहिये। https मे s का मतलब होता है सिक्योर और वेब साइड पर एक ताले का भी निशान देख लेना चाहिये।

2 लॉगिन करते टाइम आपको हमेशा याद रखना चाहिये की आपका की बोर्ड कौनसा है हमेशा वर्चुअल की बोर्ड का ही इस्तेमाल करना चाहिये।

3 जो मेल अनजान है उन्हे जल्दी से जल्दी डिलीट कर देना चाहिये।

4 किसी भी लिंक पर अगर आपसे एटीएम नंबर या पिन नंबर मांगा जाता है तो बिलकुल भी नही देना चाहिये।

5 जब आप ऑनलाइन शॉपिंग करते है तो सामान घर आने के बाद ही बिल के पैसे देना चाहिये।

ऊपर बताई गई बातों को ध्यान मे रखकर आप इन्टरनेट का अच्छा और सुरक्षित इस्तेमाल कर सकते है। इंटरनेट को सुरक्षित बनाने के लिये और भी बहुत से काम किये जा रहे है जैसे डिजिटल हस्ताक्षर, फिंगर प्रिंट, रेटिना स्कैन आदि।