चूल्हे-चौके के साथ-साथ गांव की महिलाओं ने संभाला ट्रैक्टर का स्टेयरिंग

प्रत्येक क्षेत्र में आज महिलाएं अपनी प्रतिभा का लोहा मनवा रही है। उनमें हिम्मत की भी कमी नहीं है। यह सिद्ध किया है यूपी के बागपत जनपद के बिजरौल एवं बरवाला गांव की महिलाओं ने। जिन्होंने पीएम नरेंद्र मोदी के आत्मनिर्भरता के मंत्र को अपनाते हुए ट्रैक्टर का स्टेयरिंग भी संभाल लिया है। अन्य महिलाओं को भी जागरूक करने के साथ ही खेती में भी आत्मनिर्भरता की इबारत लिख रही हैं।

वही बिजरौल गांव में तकरीबन ढाई वर्ष प्रूव ग्राम संगठन का गठन हुआ था। इसकी कोषाध्यक्ष रेखा आर्य ने कहा कि पहले समूह बनाया था तथा उसके पश्चात् ग्राम संगठन बनाया। इससे 135 महिलाएं जुड़ी हुई हैं। उन्होंने आगे कहा कि आजीविका मिशन के अंतर्गत संगठन से संबंधित 8 स्वयं सहायता समूह की महिलाओं को सरकार की तरफ से ट्रैक्टर, हेरो, टीलर आदि कृषि यंत्र प्राप्त हुए थे। इन यंत्रों को किराए पर देकर समूह से संबंधित महिलाएं अपनी आजीविका चला रही हैं। 

वही बरवाला गांव की शक्ति महिला ग्राम संगठन का गठन डेढ़ महीने पहले हुआ था। इसकी सदस्य शबाना को भी ट्रैक्टर प्राप्त हुआ है। इस संगठन से आठ समूह जुडे़ हुए है तथा तकरीबन 110 महिलाएं सक्रिय सदस्य है। बिजरौल निवासी रेखा कहती है वे स्वयं भी खेतों में ट्रैक्टर चला रही है। इसके अतिरिक्त इन्हें जरूरतमंद किसानों को सस्ते किराए पर उपलब्ध कराते हैं। इससे होने वाली इनकम को अभी संगठन के अकाउंट में जमा किया जा रहा है।

तालिबान से आमने-सामने बात करेगा भारत, रूस में 20 अक्टूबर को होगी वार्ता

आज दशहरे के दिन जरूर करे ये उपाय, ख़त्म होगी धन से जुड़ी सारी समस्याएं

डोकलाम विवाद: चीन और भूटान के बीच हुआ अहम समझौता, भारत ने दी ये प्रतिक्रिया

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -