शूटिंग वर्ल्ड कप: पाक निशानेबाज़ों को भारत ने नहीं दिया वीज़ा, IOC ने उठाया बड़ा कदम

नई दिल्ली: अंतरराष्ट्रीय ओलंपिक समिति (आइओसी) ने पाकिस्तानी निशानेबाज़ों को वीजा देने से मना करने के बाद, भारत को आखिरकार 14 कोटा के साथ निशानेबाजी विश्व कप के आयोजन की इजाजत तो दे दी है, किन्तु भारत को भविष्य में देश में आयोजित होने वाले किसी भी ओलंपिक या खेल टूर्नामेंट्स की मेजबानी करने से भी अलग कर दिया है। आइओसी ने भारत की ओर से प्राप्त हुए लिखित आश्वासन के बाद विश्व कप की मेजबानी की अनुमति दी है। हालांकि, भारत के ऊपर इससे बड़ा खतरा मंडरा रहा है। अगर भारत सरकार 15-20 दिनों में खेलों में ओलंपिक चार्टर के पूरी तरह से पालन का आश्वासन नहीं देती है तो आइओसी भारतीय एथलीटों के किसी भी अंतरराष्ट्रीय प्रतियोगिताओं में खेलने पर बैन तक लगा सकती है।

India vs England Women : भारत की विजयी शुरुआत, 136 पर ऑलआउट हुई इंग्लैंड

उल्लेखनीय है कि भारत में चल रहे निशानेबाजी विश्व कप में पाकिस्तान के दो निशानेबाजों को वीजा नहीं दिया गया था। इसके बाद पाकिस्तान राइफल संघ ने 2020 ओलंपिक कोटा के अंतर्गत उसे इस टूर्नामेंट में भाग लेने का मौका नहीं मिलने पर उसने आइओसी के सामने प्रस्ताव रखा था। पुलवामा में हुए हमले के बाद देश के माहौल के मद्देनज़र भारत सरकार ने यह फैसला लिया था। आइओसी ने शुक्रवार को इस मामले पर लुसाने में मीटिंग की थी। आइओसी की ओर से कहा गया था कि भारतीय ओलंपिक संघ (आइओए), आइओसी और अंतरराष्ट्रीय निशानेबाजी संघ (आइएसएसएफ) के अंतिम समय तक की गई कोशिशों के बाद भी पाकिस्तानी टीम के टूर्नामेंट में शामिल होने के लिए कोई रास्ता नहीं बन सका।

वर्ल्ड कप में पाकिस्तान के खिलाफ भारत खेलेगा या नहीं, COA आज लेगा अहम् फैसला !

यह स्थिति किसी भी तरह के पक्षपात न करने के आइओसी के मूल चार्टर के खिलाफ है। आइओसी की नीति है कि मेजबान देश में आने वाले तमाम खिलाडि़यों को किसी राजनीतिक दखल के बिना निष्पक्ष और समानता के माहौल में प्रतियोगिता में शामिल होने का मौका मिले। आइओसी के मुताबिक, वर्तमान घटनाक्रम के नतीजों के तहत आइओसी कार्यकारी बोर्ड ने निर्णय लिया है कि आइओए और सरकार के साथ भविष्य में किसी भी खेल टूर्नामेंट और ओलंपिक से जुडी प्रतियोगिताओं के आयोजन को लेकर तमाम चर्चाएं पूरी तरह से स्थगित की जाती हैं।

खबरें और भी:-

पूर्व न्यायाधीश डी के जैन होंगे BCCI के पहले लोकपाल, सुप्रीम कोर्ट ने सुनाया फैसला

प्रो वॉलीबाल लीग : रोमांचक फाइनल में कालीकट होरोज से होगी चेन्नई स्परटस की भिड़ंत

ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ टीम इंडिया में नहीं मिली हार्दिक को जगह, ये खिलाड़ी हुआ शामिल

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -