अंतरराष्ट्रीय वन दिवस: कटते जा रहे हैं जंगल और कम होते जा रहे हैं पेड़, रोकने के लिए बढ़ाना होगा कदम

हर साल मनाया जाने वाला अंतरराष्ट्रीय वन दिवस इस साल भी मनाया जा रहा है। यह हर साल 21 मार्च को मनाया जाता है। जी दरअसलसंयुक्त राष्ट्र ने 21 मार्च 2019 को अंतरराष्ट्रीय वन दिवस के रूप में मनाया था। यह दिन पर्यावरणीय स्थिरता और खाद्य सुरक्षा में वनों के महत्व और महत्वपूर्ण भूमिका को बताता है। आप सभी को बता दें कि विश्व वन दिवस का मुख्य उद्देश्य वन संरक्षण के प्रति‍ जागरूकता बढ़ाना और वर्तमान और भावी पीढ़ि‍यों के लाभ के लि‍ए सभी तरह के वनों के टि‍काऊ प्रबंध, संरक्षण और टि‍काऊ वि‍कास को सुदृढ़ बनाना है।

जी दरअसल इस दिन का लक्ष्य लोगों को यह अवसर उपलब्ध कराना भी है कि‍ वनों का प्रबंध कैसे कि‍या जाए तथा अनेक उद्देश्यों के लि‍ए टि‍काऊ रूप से उनका कैसे सदुपयोग कि‍या जाए। आप सभी को बता दें कि लोगों को जंगलों की एहमियत और इसके प्रति शिक्षित करने की कोशिश इस दिन के जरिये ही की जाती है। आज आधुनिकीकरण और औद्योगिकीकरण के कारण पेड़ों की निरंतर कटाई हो रही है जो बिलकुल भी सही नहीं है। एक रिपोर्ट को माना जाए तो साल 2016 में कुल 7.3 करोड़ एकड़ वन क्षेत्रों का सफाया हुआ है।

इस समय विश्वभर में तेजी से जंगलों की सफाई हो रही है जो बहुत गलत है। निरंतर पेड़-पौधों की दुर्लभ प्रजातियां और जीव-जंतुओं की दुर्लभ प्रजातियां तेजी से विलुप्त हो रही हैं जिसके लिए कहीं ना कहीं जंगल का कटना जिम्मेदार है। वैसे पेड़ों की निरंतर घटती संख्या से ग्लोबल वार्मिंग की समस्याभी तेजी से बढ़ रही है और पर्यावरण और प्रकृति का संतुलन भी बिगड़ रहा है। इस वजह से इस दिन को मनाने का मुख्य उद्देश्य लोगों को पेड़ों को, जंगल को बचाने के लिए प्रेरित करना है।

तारक मेहता... फेम 'बबिता जी' ने बदला अपना लुक, नया रूप देख हो जाएंगे दंग

दर्दनाक: केमिकल फैक्ट्री में आग लगने से 40 से अधिक लोग फसे, 4 लोगों ने खो दी अपनी जान

मौनी रॉय ने की लोगों से अपील, कहा- बच्चों को स्कूल में पढ़ाई जाए भगवत गीता...

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -