इंदौर में बीमा अस्पताल को बदला गया ग्रीन श्रेणी में, सर्दी-खांसी वाले मरीजों का नहीं होगा इलाज

इंदौर : कोरोना की रोकथाम के लिए प्रशासन हर संभव कोशिशों में लगा हुआ है. वहीं, कलेक्टर के आदेश के बाद बीमा अस्पताल को वापस ग्रीन श्रेणी में बदल दिया गया है. यहां कोरोना के इलाज के लिए भर्ती मरीजों को एमटीएच अस्पताल में रेफर कर दिया गया है. अब यहां कर्मचारी राज्य बीमा निगम के बीमित कर्मचारियों व श्रमिकों का फिर से इलाज किया जा सकेगा. बीमा अस्पताल को ग्रीन श्रेणी में करने के बाद 15 जून तक बंद रखा गया है. कोरोना के मरीज भर्ती होने से यहां सामान्य मरीजों में संक्रमण फैलने की आशंका के मद्देनजर अस्पताल को सैनिटाइज किया जाएगा. पूरी तरह स्वच्छ होने के बाद अस्पताल सामान्य बीमारी वाले मरीजों के लिए खोला दिया जाएगा. अस्पताल शुरू होते ही सभी डॉक्टरों को भी ड्यूटी पर आने के आदेश दे दिए गए हैं. बीमा अस्पताल में दो माह से कोरोना के संदिग्ध मरीजों को रखा जा रहा था.

वहीं, ऐसे में सामान्य बीमारी वाले मरीज भटक रहे थे. यलो श्रेणी में होने के बाद से कई बीमित मरीजों को जांच के अलावा दवाइयां मिलने में भी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है. निजी अस्पतालों में भी उन्हें इलाज की ठीक से सुविधा नहीं मिल पा रही थी. कई लोगों को इन अस्पतालों में अग्रिम राशि भी जमा करना पड़ी थी.  

बात दें की ग्रीन श्रेणी में होने के बाद इस अस्पताल में सर्दी-खांसी और बुखार वाले मरीजों का इलाज नहीं किया जाएगा. उनके लिए प्रशासन ने मोहल्ला क्लीनिकों की व्यवस्था की हुई है. अस्पताल में आने वाले मरीज व उनके स्वजन को जांच के बाद ही प्रवेश मिल पाएगा. उनमें कोरोना के लक्षण दिखते हैं तो उन्हे दूसरे अस्पताल भेज दिया जाएगा.  

उज्जैन में कांग्रेस नेता सहित तीन की कोरोना से हुई मौत, 12 पॉजिटिव मिले

इंदौर में 35 नए कोरोना के मामले मिले, चार और लोगों ने तोड़ा दम

इस दिन भक्तों के लिए खुलेगा तिरुपति बालाजी का धाम, रोज़ाना 6000 श्रद्धालु कर सकेंगे दर्शन

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -