भूकंप आने से इंश्योरेंस कंपनियों की हो रही चांदी

Apr 29 2015 11:02 AM
भूकंप आने से इंश्योरेंस कंपनियों की हो रही चांदी

मुंबई : नेपाल में भूकंप से मची तबाही के बाद अब इंश्योरेंस कंपनियां अपने कारोबार में सक्रिय हो गई हैं। देश में होम इंश्योरेंस पाॅलिसी को लेकर पूछताछ की जा रही है। प्राकृतिक आपदा में संपत्ति को नुकसान होने की स्थिति में इसे कवर करने की तैयारी की जा रही है। नेपाल में आए भूकंप का असर भारत के विभिन्न क्षेत्रों में भी देखा गया। देश के बिहार, उत्तरप्रदेश, असम,उत्तराखंड, पंजाब, दिल्ली समेत कई ऐसे राज्य रहे जहां मकानों को क्षति पहुंची है।

ऐसे में बीमा कारोबार में होम इंश्योरेंस की पूछपरख बढ़ी है। लोग अपने होम का आर्थिक नुकसान कवर करने को लेकर विचार कर रहे हैं। मामले का लेकर इंश्योरेंस सेगमेंट में वार्षिक प्रीमियाम लगभग 2500 करोड़ रूपए आंकी जा रही है। माना जा रहा है कि इस तरह के सेगमेंट में जबरदस्त संभावनाऐं हैं। माना जा रहा है कि इस तरह के कवर में औसत प्रीमियम करीब 3 लाख रूपए मानी जा रही है।

दूसरी ओर आईसीआईसीआई लोंबार्ड जनरल इंश्योरेंस के हेड आॅफ अंडरराइटिंग संजय दत्ता ने कहा कि इस तरह के इंश्योरेंस को लेकर कंपनियां तेजी से सक्रिय हुई हैं, कंपनियों के पास भी बड़े पैमाने पर इंक्वायरी आई है। माना जा रहा है कि होम इंश्योरेंस पाॅलिसी किसी भी प्राकृतिक आपदा के समय या फिर मानव द्वारा क्रिएट किए गए डेमेज के दौरान प्राॅपर्टी को होने वाले नुकसान की भरपाई करेगी। इस पाॅलिसी में करीब 1000 रूपए के कवर पर 70 पैसे से 1 रूपए तक का कवर दिया जा सकता है।