भरी सभा में शहीद की बेटी का अपमान

भरी सभा में शहीद की बेटी का अपमान

नई दिल्ली : यह खबर है तो दिल दुखाने वाली लेकिन सच्ची है .एक चुनावी रैली में मुख्यमंत्री विजय रूपाणी से शहीद बीएसएफ जवान की बेटी को सीएम से मिलने से रोकने और उसे अपमानित करने का मामला सामने आया है . राहुल गाँधी ने ट्वीट कर इस घटना की निंदा की है.

उल्लेखनीय है कि बीएसएफ जवान अशोक तडवी के शहीद होने पर सरकार ने उनके परिजनों को जमीन देने का वादा किया था वह आज तक पूरा नहीं होने पर उनकी बेटी रूपल तडवी (26) सीएम विजय रुपाणी की सभा में पहुंची. जब रूपाणी एक रैली को संबोधित कर रहे थे, तभी दर्शकों में बैठी रूपल अचानक चिल्लाते हुए सीएम से मिलने मंच की ओर दौड़ पड़ी.लेकिन मुख्यमंत्री के करीब जाने से पहले ही , महिला पुलिसकर्मी ने उसे रोक लिया और उसे घसीटते हुए वहां से ले गईं. हालाँकि इस दौरान सीएम रूपाणी ने मंच से कार्यक्रम के बाद मिलने की बात कही, लेकिन कोई मुलाकात नहीं हुई.

बता दें कि रूपल कई सालों सेअपनी इस मांग को लेकर प्रदर्शन कर रही है, लेकिन सुनवाई नहीं हुई है. गौरतलब है कि इस घटना का वीडियो वायरल हो गया. इसके बाद कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने घटना का वीडिया ट्विटर पर पोस्ट किया. उन्होंने लिखा कि भाजपा का अहंकार अपने चरम पर है. ‘परम देशभक्त’ रुपाणीजी ने शहीद की बेटी को सभा से बाहर फेंकवा कर मानवता को शर्मसार किया है. 15 साल से परिवार को मदद नहीं मिली, खोखले वादे मिले. इस घटना का असर चुनाव पर पड़ सकता है.

यह भी देखें

मंदिर दर्शन पर राहुल की सफाई

अमित शाह कही मेरा एनकाउंटर ना करवा दे |