मालदीव में फंसे भारतीयों को लेकर कोच्चि पहुंचा INS जलाश्व, स्वदेश पहुंचे लोगों में 19 गर्भवती महिलाएं

कोच्ची : इंडियन नेवी का युद्धपोत INS जलाश्व, मालदीव में फंसे 698 भारतीयों को लेकर रविवार सुबह केरल के कोच्चि हार्बर पर पहुंच गया है, जिसमें 595 पुरुष,103 महिलाएं और 14 बच्चे शामिल हैं। इन महिलाओं में से 19 महिलाएं गर्भवती हैं। विदेशों में फंसे भारतीयों को स्वदेश लाने के लिए नेवी ने ऑपरेशन 'समुद्र-सेतु' शुरू किया है।

इस ऑपरेशन के प्रथम चरण के तहत नौसेना के दो बड़े युद्धपोत माले पहुंचे थे। उनमें से INS जलाश्व 698 भारतीयों को लेकर शुक्रवार को केरल के कोच्चि के लिए निकला था। इंडियन नेवी ने INS जलाश्व और INS मगर की सहायता से मालदीव में रह रहे करीब 1800 से 2000 लोगों को स्वदेश वापस लाने की योजना तैयार की है। इसके लिए इन जहाजों को चार बार चक्कर लगाने होंगे। इसमें दो फेरे कोच्चि के लिए और दो तूतीकोरिन के लिए होंंगे।

स्वदेश वापसी में प्राथमिकता जरूरतमंद लोगों को ही दी जा रही है। इनमें बच्चे, बुजुर्ग और गर्भवती महिलाएं शामिल हैं। नौसेना के अनुसार, कोरोना वायरस महामारी फैलने की वजह से भारत सरकार विदेशों में फंसे भारतीयों को स्वदेश लाना चाहती है। इसके लिए सरकार ने नौसेना को आवश्यक इंतजाम करने का निर्देश दिए थे। इसी के तहत नौसेना ने ऑपरेशन समुद्र-सेतु यानि समंदर में युद्धपोतों के माध्यम से ब्रिज यानी पुल बनाने का फैसला लिया। 

इंडिगो एयरलाइन का बड़ा ऐलान, पूरे वित्त वर्ष में जारी रहेगी वेतन कटौती

इस टैक्स में राज्य सरकार ने दी 5 प्रतिशत की छूट

इतना बढ़ा भारत का विदेशी मुद्रा भंडार

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -