ये है मेन्टल डिसऑर्डर के लक्षण, जल्द इलाज में समाधान संभव

आम  इंसान से लेकर कई बॉलीवुड स्टार्स तक जिस समस्या से परेशान है वो है मेन्टल डिसऑर्डर। लेकिन  मेंटल डिसऑर्डर को लेकर आज भी भारत में बहुत कम जागरूकता है। इस वजह से अक्सर इलाज तब शुरू हो पाता है जब स्थिति काफी बिगड़ जाती है। ऐसे में ज्यादा दवाइयां और अन्य उपायों का सहारा लेकर मरीज के डिसऑर्डर को दूर करने की कोशिश की जाती है। यह इलाज लंबा या जिंदगीभर चल सकता है।

वैसे तो इसका इलाज संभव है और आसानी से साइकोलोजिस्ट की मदद से किया जा सकता है लेकिन अगर मेंटल डिसऑर्डर के लक्षणों को शुरुआत में ही पहचान लिया जाए तो व्यक्ति को नॉर्मल होने व आम लोगों जैसा जीवन जीने में मदद मिलती है और उसके पूरी तरह ठीक होने के चांस भी काफी ज्यादा होते हैं। सही डायग्नोज होने पर उसी के मुताबिक इलाज शुरू किया जा सकेगा। यह ध्यान रहे कि इलाज जितनी जल्दी शुरू होगा मरीज के पूरी तरह ठीक होने के चांस भी उतने ही ज्यादा होंगे।

 मेन्टल डिसऑर्डर के कुछ लक्षण इस प्रकार है जैसे कि दुखी महसूस करना और किसी चीज से खुशी न मिलना, किसी चीज पर ध्यान केंद्रित करने में परेशानी होना या  बहुत ज्यादा डर लगना और चिंता होना और  मूड में बहुत ज्यादा उतार-चढ़ाव इसके साथ  दोस्तों और ऐक्टिविटीज से दूर होना या फिर  सोने में परेशानी, थकान महसूस करना और ऊर्जा में कमी आना या दूसरों की स्थिति को समझने में परेशानी आना ग्स लेना या शराब का बहुत ज्यादा सेवन या फिर सेक्स ड्राइव में बदलाव,  बहुत ज्यादा गुस्सा आना, चीजें तोड़ना, मारना आत्महत्या का ख्याल आना या खुद को नुकसान पहुंचाना

गुलाबी लहंगे में अपनी फिल्म का प्रमोशन करते बहुत खूबसूरत नजर आईं मौनी रॉय

ओमेगा 3 देगा आपको हेअल्थी हार्ट, जाने इसके अन्य लाभ

डायबिटीज कण्ट्रोल करने के लिए फॉलो करे ये टिप्स, मिलेगा फायदा

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -