इंफोसिस और टीसीएस को मिली क्लीन चिट

इंफोसिस और टीसीएस को मिली क्लीन चिट

इनफार्मेशन टेक्नोलॉजी(IT) सेक्टर की जानी-मानी कंपनियां इंफोसिस और टीसीएस को कुछ समय से संकट में देखा जा रहा है. मामले में बताया जा रहा है कि देश की दूसरी सबसे बड़ी सॉफ्टवेयर कंपनी इंफोसिस के खिलाफ वीजा के उल्लंघन के बारे में जाँच कर रहे अमेरिका के डिपार्टमेंट ऑफ लेबर ने कम्पनी को क्लीन चिट दे दी है. इसके तहत डिपार्टमेंट का यह भी कहना है कि इंफोसिस के खिलाफ उल्लंघन का कोई प्रमाण नहीं मिल पाया है और इस कारण उसे क्लीन चिट दी गई है. इसके साथ ही इंफोसिस की प्रतिद्वंदी मानी जाने वाली टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज के खिलाफ भी H-1B वीजा नियमों के उल्लंघन को लेकर जाँच शुरू की गई थी लेकिन अब इस मामले में भी कुछ सामने नहीं आने के कारण इसे भी क्लीन चिट ही मिली है.

मामले में इंफोसिस का कहना है कि अमेरिका श्रम विभाग ने पूरी जाँच की लेकिन कुछ भी गलत सामने नहीं आया है. गौरतलब है कि इसी वर्ष में जून माह के दौरान दोनों ही कम्पनियों पर यह आरोप लगाया गया था कि दोनों कंपनियां इलेक्ट्रिक यूटिलिटी कंपनी सदर्न कैलिफोर्निया एडीसन की एक परियोजना में काम करने के लिए वीजा नियमों को ताक पर रककर विदेशी इंजीनियरों को अमेरिका बुलाने का काम कर रही है.