इंद्राणी ने स्वीकार किया हत्याकांड में उसका था हाथ, पीटर को हुआ पछतावा

Sep 04 2015 10:07 AM
इंद्राणी ने स्वीकार किया हत्याकांड में उसका था हाथ, पीटर को हुआ पछतावा

मुंबई : आखिरकार शीना बोरा हत्याकांड में एक नया मोड़ आ ही गया। दरअसल शीना बोरा हत्याकांड में इंद्राणी मुखर्जी ने शीना बोरा की हत्या करने की बात स्वीकार कर ली। हालांकि उसने कहा कि उसने शीना का गला नहीं दबाया। मामले में पुलिस ने कहा कि उसने शीना का गला नहीं दबाया। इंद्राणी को लेकर पुलिस ने सभी साक्ष्य मिलने का दावा किया है। पीटर मुखर्जी से मामले में दोबारा पूछताछ की गई। 

इस दौरान यह बात सामने आई कि इंद्राणी, पीटर और संजीव से गुरूवार को अलग-अलग पूछताछ की गई। यही नहीं इद्राणी और पीटर को एक दूसरे के सामने बैठाकर जब पूछताछ की गई तो नए तथ्य सामने आए। जांच के दौरान पुलिस को शीना की डायरी भी हाथ लगी है। इससे स्पष्ट हो गया कि मां और बेटी में रिश्ते अच्छे नहीं होते हैं, मगर इस मामले का कारण शीना और राहुल का प्रेम ही है या फिर संपत्ती के लालच को लेकर हत्या की गई है यह भी काफी पेचीदाभरा रहा है।

हालांकि अभी पुलिस को इन सवालों के जवाब जानने हैं। पुलिस द्वारा मुंबई के तालतला क्षेत्र स्थित पैट्रोल पंप के मालिक पी. मेहरा से देर तक पूछताछ की इस दौरान उन्होंने बताया कि मेहरा का मुंबई में एक पैट्रोल पंप है, शीना की हत्या करने से पूर्व के पैट्रोल पंप से इंद्राणी मुखर्जी ने कार में पैट्रोल भरवाया था। उल्लेखनीय है कि यह कार पीटर मुखर्जी ने वर्ली की कार सिटी नामक मोटर एजेंसी से ली थी।

बुकिंग के बाद पीटर का चालक श्याम राय कार को लेकर वर्ली पहुंचा वहीं सिद्धार्थ दास को पुलिस मुंबई ले गई। सिद्धार्थ से पुलिस ने पूछताछ की और माना जा रहा है कि सिद्धार्थ के डीएनए टेस्ट के लिए भी पुलिस ने प्रयास किए हैं। इंद्राणी को गिरफ्तार किए जाने के बाद पीटर और उसके पुत्र राहुल के बीच की दुरियां भी मिटने लगी हैं।

पीटर ने अपने पुत्रों राहुल और रोबिन के प्रति प्रेम जताया। उन्होंने दोनों से ही व्हाट्सएप के जरिए संपर्क किया। उनके प्रति प्यार जताया। पीटर शीना और मिखाईल की पढ़ाई के लिए पैसा दिया करते थे और मिखाईल की ड्रग्स की आदत के लिए भी उन्होंने भुगतान किया। उन्हें पछतावा हो रहा है कि उन्होंने अपने बेटों की बात नहीं मानी।