हाथ-पाँव में पट्टी, चेहरे पर खौफ... इंदौर पुलिस ने निकाली गुंडों की परेड

इंदौर: इंदौर की जिस कॉलोनी में 'गुंडों' का खौफ चलता था, मंगलवार देर रात पुलिस ने वहीं पर उनकी परेड कराई. लड़खड़ाते हुए डरे-सहमे 'गुंडे' लगभग एक किलोमीटर तक पैदल चले. इन बदमाशों को देखने के लिए सड़क पर भीड़ जमा हो गई. इनके हाथ व पैरों में पट्टी बंधी हुई थी और एक-दूसरे को सहारा देकर चल रहे थे. माना जा रहा है कि परेड के पहले पुलिस ने इनकी जमकर खबर ली है .

विजय नगर पुलिस ने मंगलवार शाम गैंगस्टर सतीश भाऊ, चिंटू ठाकुर, शूटर रितेश करोसिया और मोनू उर्फ सुजीत का महालक्ष्मी नगर में पैदल जुलूस निकाला. भाऊ को उसके महालक्ष्मी नगर स्थित फ्लैट में ले जाकर चेकिंग की गई. इस दौरान पुलिस ने एक पिस्टल बरामद की. वहीं भाऊ के घर से अयोध्यापुरी कॉलोनी के कुछ प्लॉट धारकों की रसीदें भी बरामद हुईं हैं, किन्तु जब पुलिस ने संबंधित नंबर और संस्था के रिकॉर्ड से जांच की तो असल रसीदें मालिकों के पास ही मिलीं. गैंगस्टर भाऊ के तीन मोबाइल नंबर SIT के हाथ लगे हैं. पता लगाया जा रहा है कि वह किस-किस के संपर्क में रहा और फरारी में कौन-कौन उसकी सहायता कर रहा था.

पुलिस गैंगस्टर सतीश भाऊ के बैंक अकाउंट की जानकारी भी ले रही है. इसने अपने साले बाबू के नाम पर बहुत सी अवैध संपत्ति ले रखी है. भाऊ को महालक्ष्मीनगर ले जाने के बाद सूजीत को सूरज नगर, प्रमोद को राम नगर और शूटर रितेश को बंगाली चौराहा ले जाया था. पुलिस का कहना है कि इनके घरों से हथियार बरमाद करने थे. विजय नगर थाना TI तहजीब काजी ने कहा है कि पुलिस इनके घरों से हथियार जब्ती करना चाहती थी, शाम लगभग साढ़े छह बजे पांचों आरोपियों को उनके घर ले गए .

तमिलनाडु ने सीएसआर फंड का उपयोग करके निजी अस्पतालों में शुरू किया मुफ्त टीकाकरण अभियान

जम्मू कश्मीर के बच्चों के नाम अक्षय कुमार ने किया 1 करोड़ का दान

पाकिस्तान में नहीं थम रहा कोरोना का कहर, लगातार आ रहे संक्रमण के नए केस

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -