मुस्लिम देश में आज भी मौजूद है समुद्र मंथन में निकला अमृत कलश