जब राजीव से इंदिरा ने पुछा, अपनी गर्लफ्रेंड के बारे में क्यों नहीं बताते

नई दिल्ली: देश के पूर्व पीएम राजीव गांधी की आज पुण्यतिथि है. देश ने इस असरदार नेता को उस समय खो दिया जब उनकी आयु महज 47 साल की थी. युवावस्था में राजीव गांधी की हस्ती किसी राजकुमारों जैसी थी. इग्लैंड में जब वे कॉलेज में पढ़ रहे थे, तो उनकी मां इंदिरा गांधी के साथ उनकी बातचीत काफी दिलचस्प था. तब इंदिरा गांधी उनसे सवाल किया करती थीं, 'तुम अपने दोस्तों के बारे में, अपने गर्लफ्रेंड के बारे में मुझे क्यों नहीं बताते हो?

मां के इन सवालों पर शर्मीले स्वभाव के राजीव गाँधी मुस्कान देकर चुप हो जाया करते थे और कहते थे कि ये सब कोई अहम् बात नहीं है. राजीव गांधी ने इन बातों का खुलासा खुद एक साक्षात्कार में किया था. राजीव गांधी की हत्या भारत की राजनीति का एक दुखद अध्याय है. 1991 की मई की गर्मी कुछ ऐसी ही थी, जैसी आज है. सूरज की तपिश लोगों को जला रही थी. इसी चिलचिलाती धूप और लू के थपेड़ों के बीच देश में लोकसभा चुनाव हो रहे थे. राजीव गांधी कांग्रेस के समर्थन में वोट मांगने के लिए चेन्नई के समीप श्रीपेरंबदुर पहुंचे थे.

यहां पर श्रीलंका के आतंकवादी संगठन लिट्टे ने आत्मघाती हमलावरों की मदद से उनकी हत्या करवा दी. इस घटना से देश सन्न रह गया था.राजीव गांधी का बचपन दिल्ली और इलाहाबाद में बीता. जब वे युवा हुए तो वहीं पढ़ने गए, जहां उनके नाना जवाहरलाल नेहरू ने पढाई की थी, यानी की ब्रिटेन. काफी लोगों की दिलचस्पी इस बात को जानने में रहती है युवा राजीव गांधी और उनकी मां के बीच कैसा संवाद होता है. तब राजीव गांधी राजनीति से दूर थे. राजीव गांधी ने एक साक्षात्कार में अपने कॉलेज लाइफ, सोनिया के साथ दोस्ती पर विस्तार से चर्चा की है.

नीतीश कुमार दिल्ली रवाना, एनडीए की बैठक में होंगे शामिल

VIDEO: एग्जिट पोल से गदगद हुआ भाजपा प्रत्याशी, दिया एक लाख लड्डू का आर्डर

पाकिस्तान में हुए ऐलान, इस दिन दिख सकता है ईद का चाँद

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -