राष्‍ट्र सुरक्षा परिषद में फहराया गया भारत का तिरंगा

संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में सोमवार को भारतीय तिरंगा लगाया गया। देश संयुक्त राष्ट्र के इस शक्तिशाली निकाय में दो वर्षों के लिए अस्थायी मेंबर के तौर पर अपना कार्यकाल शुरू कर रहा है। पांच नये अस्थायी सदस्य देशों के झंडे 4 जनवरी को एक विशेष समारोह के दौरान लगाए गए। 2021 में चार जनवरी आधिकारिक रूप से पहला कार्य दिवस होगा।

संयुक्त राष्ट्र में भारत के स्थायी प्रतिनिधि टीएस तिरुमूर्ति ने कहा कि, भारत ने आठवीं बार सुरक्षा परिषद की सदस्यता ग्रहण की है। आज के ध्वज स्थापना समारोह में भारत के स्थायी प्रतिनिधि के रूप में भाग लेना यह मेरे लिए सम्मान की बात है। हम शांति व्यवस्था, शांति-निर्माण, समुद्री सुरक्षा, महिलाएं और युवा, विशेषकर संघर्ष की परिस्थितियों जैसे मुद्दों पर हम परिषद का ध्यान आकर्षित करेंगे। भारत के साथ संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में नॉर्वे, केन्या, आयरलैंड और मैक्सिको अस्थायी सदस्य बने हैं। वे अस्थायी सदस्यों इस्टोनिया, नाइजर, सेंट विंसेंट और ग्रेनाडा, ट्यूनिशिया, वियतनाम तथा पांच स्थायी सदस्यों चीन, फ्रांस, रूस, ब्रिटेन और अमेरिका के साथ इस परिषद् का हिस्सा होंगे। भारत अगस्त 2021 में संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद का अध्यक्ष होगा और फिर 2022 में एक महीने के लिए परिषद की अध्यक्षता करेगा।

परिषद् का अध्यक्ष हर सदस्य एक महीने के लिए बनता है, जो देशों के अंग्रेजी वर्णमाला के नाम के अनुसार तय किया जाता है। झंडा लगाने की परंपरा की शुरुआत कजाकिस्तान ने 2018 में शुरू की थी। भारत 1 जनवरी 2021 से 31 दिसंबर 2022 तक सुरक्षा परिषद का अस्थायी सदस्य होगा। भारत की वैश्विक मंच पर लगातार भूमिका बढ़ रही है, इससे भारत की ताकत में भी इजाफा होगा।

गुजरात में बन रहा 'बंगाल विजय' का फॉर्मूला, भाजपा-संघ की 3 दिवसीय बैठक

झारखंड में सीएम सोरेन के काफिले पर हुआ हमला, राजद ने भाजपा पर लगाए आरोप

कृषि मंत्री ने रक्षा मंत्री से मिलकर गतिरोध को खत्म करने की रणनीति पर की चर्चा

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -