देश की GDP में आया जबरदस्त उछाल, ग्रोथ रेट ने तोड़ डाले सभी रिकॉर्ड

नई दिल्ली: अप्रैल से जून 2021 के दौरान यानी मौजूदा वित्त वर्ष की पहली तिमाही में देश की GDP ग्रोथ रेट में 20 फीसदी से अधिक का इजाफा देखने को मिला है। गत वर्ष कोरोना म​हामारी के चलते देश की GDP में गिरावट दर्ज की गई थी, मगर अब इसमें सुधार दिखने लगा है। केंद्र सरकार ने मंगलवार (31 अगस्त) को GDP के ताजा आँकड़े जारी किए हैं। 

वित्त वर्ष 2022 की पहली तिमाही यानी अप्रैल 2021 से जून 2021 में भारत की सकल घरेलु उत्पाद (GDP) की ग्रोथ में 20.1 फीसदी की वृद्धि दर्ज की गई है। आँकड़ों के मुताबिक, 2021-22 के फर्स्ट क्वार्टर में GDP 32.38 लाख करोड़ रुपए रही है, जो 2020-21 की पहली तिमाही में 26.95 लाख करोड़ रुपए थी। यानी साल दर साल के आधार पर GDP में 20.1 फीसदी की बढ़ोतरी दर्ज की गई है। उल्लेखनीय है कि गत वर्ष अप्रैल-जून के दौरान देश की GDP में 24.4 फीसदी की भारी गिरावट आई थी। अर्थशास्त्रियों द्वारा जताए गए अनुमानों के मुताबिक, मौजूदा वित्त वर्ष की पहली तिमाही में देश की GDP में 20.1 प्रतिशत का इजाफा हुआ है, जबकि एक साल पहले इसी समय अवधि में कोरोना महामारी की पहली लहर के दौरान लॉकडाउन के परिणामस्वरूप 24.4 फीसदी की गिरावट आई थी। 

सकल घरेलू उत्पाद (GDP) के अतिरिक्त, सकल मूल्य वर्धित (Gross Value Added) भी पहली तिमाही में 18.8 फीसद की दर से बढ़ा है। बता दें कि 1990 के दशक के मध्य से आधिकारिक GDP ग्रोथ रेट के आँकड़ों पर नजर डाले तो जीडीपी की इतनी बेहतरीन ग्रोथ रेट कभी नहीं रही है। यानी पहली तिमाही में 20.1 फीसद की GDP वृद्धि सबसे अधिक तिमाही विस्तार है। यह वित्त वर्ष 2021 की चौथी तिमाही में दर्ज 1.6 फीसद GDP वृद्धि का लगभग 13 गुना है।

महीने के आखिरी दिन भी गिरे सोना-चांदी के दाम, जानिए आज का भाव

सेंसेक्स में 663 अंक की बढ़त, जानिए क्या है निफ़्टी का हाल

ओला की आरंभिक सार्वजनिक पेशकश के जरिए बनाई जा रही है करोड़ों जुटाने की योजना

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -