भारत का विदेशी मुद्रा भंडार 678 मिलियन अमरीकी डॉलर से गिरकर 634.28 बिलियन अमरीकी डॉलर हुआ

 

भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) के आंकड़ों से पता चलता है कि 21 जनवरी को समाप्त सप्ताह में भारत का विदेशी मुद्रा (विदेशी मुद्रा) भंडार 678 मिलियन अमरीकी डालर घटकर 634.28 बिलियन अमरीकी डालर हो गया, जो विदेशी मुद्रा होल्डिंग्स में भारी गिरावट के कारण था।

आरबीआई के साप्ताहिक सांख्यिकी पूरक के अनुसार, विदेशी मुद्रा भंडार, विदेशी मुद्रा भंडार का सबसे बड़ा घटक, समीक्षाधीन सप्ताह के दौरान 1.115 बिलियन अमरीकी डॉलर गिरकर 569.582 बिलियन अमरीकी डॉलर हो गया।

यूरो, ब्रिटिश पाउंड स्टर्लिंग और जापानी येन जैसे विदेशी मुद्रा भंडार में रखी गैर-डॉलर मुद्राओं की सराहना या मूल्यह्रास का प्रभाव अमेरिकी डॉलर के संदर्भ में व्यक्त किए जाने पर विदेशी मुद्रा परिसंपत्तियों में शामिल होता है।

अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष (IMF) के साथ भारत का विशेष आहरण अधिकार (SDRs) 6.8 मिलियन अमरीकी डॉलर गिरकर 19.152 बिलियन अमरीकी डॉलर हो गया, जबकि IMF में भारत की आरक्षित स्थिति 22 मिलियन अमरीकी डॉलर गिरकर 5.216 बिलियन अमरीकी डॉलर हो गई।

दूसरी ओर, सोने के भंडार का मूल्य नाटकीय रूप से बढ़ा। 21 जनवरी 2022 को समाप्त सप्ताह में सोने के भंडार का मूल्य 567 मिलियन अमरीकी डॉलर बढ़कर 40.337 बिलियन अमरीकी डॉलर हो गया।

'Pegasus पर जवाब दे PMO ..', NYT की रिपोर्ट को लेकर केंद्र पर हमलावर हुई कांग्रेस

जिस तस्वीर का बंगाल पुलिस ने किया Fact Check, उसे इस्तेमाल कर NBT और दैनिक जागरण ने फैलाया झूठ

फिर से हुई बनारस हाईवे को उड़ाने की कोशिश, 4 दिन के अंदर दूसरी बार मिला बम

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -