वैज्ञानिकों ने कहा- "कम से कम पांच पीढ़ियों के सितारों..."

By Emmanual Massey
Jan 22 2021 11:36 AM
वैज्ञानिकों ने कहा-

गैलेक्सी में NGC 2808 नामक विशाल पेचीदा गोलाकार क्लस्टर की खोज करने वाले खगोलविदों ने कहा है कि कम से कम पांच पीढ़ियों के सितारों ने इसमें दुर्लभ गर्म यूवी-उज्ज्वल सितारों को देखा है। विज्ञान और प्रौद्योगिकी विभाग ने गुरुवार को कहा- ये तारे जिनके आंतरिक कोर लगभग उजागर होते हैं, उन्हें बहुत गर्म बनाते हैं, सूर्य जैसे तारे के विकास के अंतिम चरण में मौजूद होते हैं। यह स्पष्ट नहीं है कि इन सितारों ने अपने जीवन का अंत कैसे किया क्योंकि उनमें से कई का पता इन तेजी से विकसित होने वाले चरणों में नहीं चला, जिससे उनका अध्ययन महत्वपूर्ण हो गया।

ब्रह्मांड में डायनासोर के रूप में संदर्भित पुराने गोलाकार क्लस्टर, उत्कृष्ट प्रयोगशालाओं को प्रस्तुत करते हैं जहां खगोल वैज्ञानिक यह समझ सकते हैं कि कैसे बोर्ड पर अल्ट्रावायलेट इमेजिंग टेलीस्कोप (यूवीआईटी) से क्लस्टर की शानदार पराबैंगनी छवियों के साथ उनके जन्म और मृत्यु के बीच विभिन्न चरणों के माध्यम से तारे विकसित होते हैं। एस्ट्रोसैट के साथ इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ एस्ट्रोफिजिक्स के खगोलविदों ने गर्म यूवीब्राइट सितारों को अपेक्षाकृत कूलर लाल विशाल और मुख्य-अनुक्रम सितारों से अलग किया, जो इन छवियों में धुंधला दिखाई देते हैं। स्पेस टेलीस्कोप और गिया टेलिस्कोप के साथ-साथ ग्राउंड-आधारित ऑप्टिकल टिप्पणियों का भी उपयोग किया गया था

अल्ट्रावॉयलेट इमेजिंग टेलीस्कोप (UVIT) से क्लस्टर की शानदार अल्ट्रावॉयलेट छवियों के साथ भारत का पहला मल्टी-वेवलेंथ स्पेस सैटेलाइट, एस्ट्रोसैट, उन्होंने गर्म यूवी-उज्ज्वल सितारों को अपेक्षाकृत कूलर लाल विशाल और मुख्य-अनुक्रम सितारों से अलग किया, जो इन छवियों में धुंधले दिखाई देते हैं । इस अध्ययन के निष्कर्षों को 'द एस्ट्रोफिजिकल जर्नल' पत्रिका में प्रकाशन के लिए स्वीकार किया गया है।

यूपी में पुलिस ने लुटा 19 लाख कैश, 16 लाख का सोना-चांदी, 3 गिरफ्तार, 9 निलंबित

बिहार में एक और मर्डर, घर में घुसकर बदमाशों ने महिला को मारी गोली

असम-नागालैंड सीमा के पास दो बंदूकधारी हुए गिरफ्तार