पनामा में घिरे हैं भारतीय, आयकर विभाग की हो रही टेढ़ी नज़र

Nov 15 2016 12:38 PM
पनामा में घिरे हैं भारतीय, आयकर विभाग की हो रही टेढ़ी नज़र

नई दिल्ली : पनामा पेपर्स लीक मसले पर टैक्स वाॅयलेशन के आरोप को लेकर भारतीयों के विरूद्ध आॅफशोर इन्क्वायरी की जा रही है। पनामा पेपर्स जांच से जुड़े करीब 415 भारतीयों पर इनकम टैक्स की टेढ़ी नज़र बनी हुई है और आयकर विभाग उनकी जांच में जुटा है। इतना ही नहीं इस मामले में समाचार पत्रों में जो प्रकाशन हो रहा है उसके अनुसार सरकार द्वारा 13 स्थानों पर भारतीयों के स्वामित्व वाली आॅफशोर कंपनियों को लेकर 198 रेफरेंसेज़ पहले भेजे जा चुके हैं।

इस दौरान ब्रिटिश वर्जिन आईलैंड, बहामास, लग्जमबर्ग, न्यूजर्सी, सेशेल्स, स्विट्ज़रलैंड और सायप्रस आदि शामिल हैं। वित्त मंत्रालय के विदेशी कर एवं टैक्स रिसर्च डिविजन ने इस तरह के रिफरेंस को प्रस्तुत किया है, जिसमें कहा गया है कि बड़े पैमाने पर भारतीय पनामा पेपर लीक मामले में घिरे हुए हैं।

दरअसल इस पेपर डाटा में 2.10 लाख आॅफशोर कंपनियां दर्ज हैं, जिसमें ब्रिटिश वर्जिन आईलैंड से जुड़ी हैं। पनामा पेपर मामले में अब तक करीब 297 भारतीयों को जांच के दायरे में लिया गया है दूसरी ओर 14 लोगों को लेकर सर्वे किया जा रहा है। जांच की रिपोर्ट या जिसे रेफरेंस कहा जा रहा है वे दिल्ली, मुंबई, हैदराबाद आदि क्षेत्रों में भी आयकर विभाग को भेजे जा रहे हैं।