रोम में छाया बजरंग और रवि दाहिया का जलवा, हासिल की शानदार जीत

रोम में छाया बजरंग और रवि दाहिया  का जलवा, हासिल की शानदार जीत

भारतीय पहलवान बजरंग पूनिया और रवि कुमार दाहिया ने रोम रैंकिग सीरीज के फाइनल में धमाकेदार प्रदर्शन करते हुए देश के लिए गोल्ड मेडल जीते. बजरंग ने अमेरिका के पहलवान जॉर्डन माइकल ओलिवर को 4-3 से हराया और 65 किलोग्राम फ्री स्टाइल भारवर्ग में ये सफलता हासिल की. एक वक्त पर बजरंग पिछड़ रहे थे, लेकिन  इसके बाद उन्होंने वापसी की और करीबी मुकाबले में जीत हासिल कर चुके है. 

वहीं दूसरी तरफ रवि कुमार दाहिया ने 61 किलोग्राम भारवर्ग फ्रीस्टाइल प्रतियोगिता में गोल्ड मेडल जीता. उन्होंने कजाकिस्तान के नुरबोलात अब्दुआलियेव को 12-2 से एकतरफा अंदाज में हराया. हैरानी वाली बात यह है कि रवि इस बार 61 किग्रा में लड़ रहे थे, जबकि वह इससे पहले 57 किग्रा में उतरते थे. गोल्ड मेडल मुकाबला हारने के बाद विपक्षी पहलवान ने ट्विटर पर लिखा कि यह मेरी रात नहीं थी, लेकिन यहां तक पहुंचने के लिए मैंने मेहनत की थी. आपको सलाम... फिर मिलेंगे दोस्त. भारत के स्टार पहलवान बजरंग ने पहले दौर में अमेरिका के ही जैन एलेन रदरफोर्ड को बड़ी मुश्किल से 5-4 से हराकर हराया था. इसके बाद क्वॉर्टर फाइनल में भारतीय पहलवान ने अमेरिका के जोसफ क्रिस्टोफर मैक केना को 4-2 से शिकस्त दी और फिर सेमीफाइनल में यूक्रेन के वासिल शुपतार का सफर 6-4 से समाप्त किया.

जानकरी के लिए बता दें कि बरजंग और दहिया के अलावा विनेश फोगाट, 18 वर्षीय अंशु मलिक, ग्रीको रोमन पहलवान साजन भनवाल, गुरप्रीत सिंह और सुनील कुमार ने भी अपने-अपने भार वर्ग में पदक जीते. विनेश ने शुक्रवार को महिलाओं की 53 किग्रा के फाइनल में जबकि अंशु ने 87 किग्रा फाइनल में स्वर्ण पदक जीते. गुरप्रीत (82 किग्रा) रैंकिंग सीरीज में स्वर्ण पदक जीतने वाले पहले भारतीय बन गए हैं. उनके अलावा सुनील ने 87 किग्रा में रजत और भानवाल ने 77 किग्रा में कांस्य पदक अपने नाम किया.

टेबल टेनिस गेम के लिए पुरुष टीम के पास यह आखिरी मौका...

Meyton Cup: दिव्यांश-अपूर्वी ने जीता स्वर्ण, इन खिलाड़ियों को मिला कास्य

मैदान के बीच बड़ा हादसा, गेंदबाज़ पर गिरा बल्लेबाज