यमन में फंसे भारतीय नाविकों ने की सरकार से मदद की गुहार

यमन में फंसे भारतीय नाविकों ने की सरकार से मदद की गुहार

पिछले 15 दिनों से संकट ग्रस्त यमन में फंसे हुए गुजरात के रहने वाले करीब 70 नाविकों ने भारत से मदद की गुहार लगाई है. आपको बता दे की पिछले दिनों यमन में सऊदी अरब द्वारा किये गए हमलो की चपेट में आने के कारण 6 भारतीय नागरिको की मौत हो गई थी. नाविकों के एक समूह की माने तो जामनगर और कच्छ के लगभग 70 नाविक पांच नावों के साथ यमन में फंसे है. वाही कच्छ और जामनगर के वाहनवत्ता संघ के अध्यक्ष हाजी जुनेजा ने बताया कि पांच नावों के साथ लगभग 70 नाविक व्याह फंसे हुए है और अब उनकी सहायता के लिए सरकार कि सहायता कि जरुरत है. उन्होंने इस बात की जानकारी उन्होंने विदेश मंत्रालय को भी दे दी है.

और उनसे अनुरोध किया है की इन नाविकों की मदद की जाये और उन्हें सुरक्षित स्थानो पर ले जाया जाये. क्योकि कल उनपर कुछ संगठनो ने बमबारी भी की. ये नाविक माल पहुचने के लिए यमन गए थे. वही एक नाविक ने अपना ऑडियो सन्देश भी भेजा है. इस आदमी का नाम सिकंदर बताया जा रहा है. जिसने अपने सन्देश में कहा की हम खोका पोर्ट पर है. और हम 70 लोग है और हम सब काफी बड़ी मुसीबत में है.यमन में गृह युद्ध जैसी स्थिति है और शिया विद्रोही वहां की सरकार समर्थक बालो से लड़ रहे है.