सुविधाओं से युक्त 'तेजस' में सुहाना होगा सफर

नई दिल्ली : रेल यात्रियों को निरंतर नई सुविधाएं देने को अग्रसर भारतीय रेलवे ने नई 'तेजस' ट्रेन की यात्रा को मनोरंजक और आनंददायक बनाने का निर्णय लिया है. तेजस ट्रेनों के कोचों को उच्च तकनीक वाली मनोरंजन इकाइयों, वाई फाई सुविधा, ब्रेल डिस्प्ले के साथ कॉफी मशीनकी सुविधा से जोड़ा जा रहा है, ताकि यात्रियों को और आनंद मिल सके.

तेजस ट्रेनें सम्भवतः दो अक्टूबर से चलने की सम्भावना है. कोशिश है कि इसका शुभारम्भ पीएम मोदी के हाथों हो. एलएचबी फ्रेम से निर्मित यह ट्रेन न केवल शताब्दी से भी ज्यादा तेज चलेगी, बल्कि आरामदेह और सुसज्जित भी होगी. इसकी रफ़्तार 130 किमी प्रति घंटा होगी. यह दिल्ली से मुंबई का सफर 10 घंटे में पूरा करेगी.

रेलवे ट्रेनों के डिब्बों का रंग भी बदल रहा है. तेजस के डिब्बे सुनहरे रंग के होंगे, जबकि जल्द आनेवाली 'हमसफर' के डिब्बों पर धरती और आकाश के रंगों कि विनाइल शीट लगी होगी. यह इस बात का सन्देश होगा कि यह आम आदमी का वाहन है.

तेजस में 22 नए फीचर लगाए जाएंगे. जिनमें हर यात्री के लिए मनोरंजन स्क्रीन, हेड फोन सॉकेट के अलावा निर्देश के डिस्प्ले बोर्ड भी होंगे. तेजस में बॉयो वेक्यूम टाइप टॉयलेट बनाए जाएंगे. सेंसर युक्त नलों के अलावा हैण्ड ड्रायर, टिश्यू पेपर और सोप डिस्पेंसर के साथ ही ऐसे डस्टबिन लगाए गए हैं जो कॉम्पेक्टिंग प्रक्रिया के जरिये अधिक कचरा संग्रह में सक्षम होंगे. इसमें सीसीटीवी के साथ ही फायर और स्मोक डिटेक्शन प्रणालियां भी लगाई गई है.

रेल मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि, तेजस, हमसफर, अंत्योदय और दीन दयालु के डिब्बों के डिजाइन फीचर तय किए जा चुके हैं. निर्माण इकाइयों को इसी के अनुरूप डिब्बों का निर्माण करने और उन्हें उपकरणों से लैस करने के निर्देश दिए गए हैं. तेजस के डिब्बों में एग्जिक्यूटिव क्लास और चेयर कार होंगी, जबकि हमसफर में थर्ड-एसी डिब्बे होंगे.

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -