अगले 10 दिनों में दौड़ेंगी 2600 स्पेशल ट्रेनें, 36 लाख लोग पहुंचेंगे घर

नई दिल्ली: देश की लाइफलाइन कही जाने वाली भारतीय रेलवे अब रफ्तार पकड़ने की कवायद में है. एक जून से सौ जोड़ी ट्रेनें पटरी पर दौड़ना शुरू करेंगी. टिकट बुकिंग के लिए शुक्रवार से ही काउंटर खुल चुके हैं. कोरोना संकट और लॉकडाउन के बीच प्रवासियों और श्रमिकों को उनके गृह राज्य तक पहुंचाने में रेल मंत्रालय अहम भूमिका निभा रहा है.

रेलवे की तरफ से इस बात का पूरा ख्याल रखा जा रहा है कि श्रमिक स्पेशल ट्रेनों में मुसाफिरों को किसी प्रकार की समस्या ना हो. यात्रियों को राहत देने की लगातार कोशिशों के बीच रेल मंत्रालय ने अब अगले 10 दिनों में 2600 और श्रमिक स्पेशल ट्रेनें चलाने का ऐलान किया है. बता दें कि इंडियन रेलवे ने 1 मई से पूरे देश में 2,600 श्रमिक स्पेशल ट्रेनों का संचालन किया है. जिसके तहत पूरे देश में 45 लाख से ज्यादा लोगों को उनके गंतव्य तक पहुंचाया है. वहीं, अगले 10 दिनों में 2,600 और ट्रेनों के परिचालन की योजना है.

रेलवे बोर्ड के अध्यक्ष वीके यादव ने शनिवार को बताया कि हमने दूसरे प्रदेशों में फंसे हुए प्रवासी कामगारों और मजदूरों को उनके गृह राज्य पहुँचाने ने के लिए 1 मई से श्रमिक स्पेशल ट्रेनें चलानी आरंभ कीं हैं. अब तक 2,600 श्रमिक स्पेशल ट्रेनों का संचालन किया गया है. यादव ने रेलवे की भविष्य की योजनाओं पर कहा कि राज्य सरकारों के साथ रेलवे ने अगले 10 दिनों के लिए एक रोडमैप तैयार किया है. आने वाले दस दिनों में 2,600 ट्रेनें संचालित होने वाली हैं और हम 36 लाख से ज्यादा मुसाफिरों को उनकी मंजिल तक पहुंचाएंगे. 

इस दिन से इंफाल एयरपोर्ट पर प्रारंभ होगी उड़ाने

इस स्थान पर आंधी मचा रही तबाही, संकट से गुजर रहा जनजीवन

भारत फिर भरेगा उड़ान, 25 मई को दिल्ली एयरपोर्ट से रवाना होगी पहली फ्लाइट

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -