रेलवे टिकिट को लेकर मंत्रालय ने किया बड़ा बदलाव

नई दिल्ली : इंडिया को लगातार डिजिटल बनाये जाने की होड सी लगी हुई है, कहीं डिजिटल इंडिया और कहीं मेक इन इंडिया के तहत सुधार देखने को मिल रहे है. और अब हाल ही में सरकार ने अपने इस कदम को बढ़ाते हुए रेलवे टिकिट को लेकर एक नया प्रयोग किया है. बताया जा रहा है कि इंडियन रेलवे के मासिक सीजन टिकट और प्लेटफॉर्म टिकट अब आपको कागज के रूप में प्राप्त नही हो पाएंगे, क्योंकि हाल ही में यह जानकारी सामने आई है कि एक योजना के तहत रेलवे के द्वारा एक मोबाइल एप्लीकेशन शुरू की जा रही है.

जिस पर आपके टिकिट को लेकर सारी जानकारी उपलब्द्ध रहेगी. मामले में रेल मंत्री सुरेश प्रभु का कहना है कि आने वाले कुछ दिनों के भीतर ही मुंबई, दिल्ली, चेन्नई और कोलकाता जैसे शहरों में इस योजना का शुभारम्भ किया जाना है. उन्होंने यह भी बताया है कि प्रभु आज दिल्ली-पलवल उपनगरीय खंड पर पेपरलेस अनारक्षित टिकट प्रणाली की शुरुआत भी कर रहे है. गौरतलब है कि प्रभु इससे पहले IT बैस्ड दो अन्य पहल भी पहले कर चुके है जिनमे एक स्मार्ट कार्ड संचालित टिकट वेंडिंग मशीन और दूसरी "परिचालन" नामक एप भी शामिल है.

साथ ही सुरेश प्रभु का यह भी कहना है कि हमारे देश में दैनिक यात्रियों की संख्या 2.3 करोड़ है और करीब 75 लाख ऐसे यात्री है जो मासिक सीजन टिकट का ही इस्तेमाल करते है. और इस नई पेपरलेस योजना के बारे में बताते हुए प्रभु ने कहा है कि यह डिजिटल इंडिया के तहत सरकार की ही एक नई पहल है, इसके इस्तेमाल से ना केवल समय बचेगा बल्कि टिकिट काउंटर्स पर भी भीड़ कम रहेगी. इस योजना के तहत उपयोग किये जाने वाले मोबाइल एप को आप गूगल प्ले स्टोर और विंडो स्टोर से भी डाउनलोड कर सकते है.

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -