Omicron के चलते फिर साँसों पर आएगा संकट ! भारतीय रेलवे ने कसी कमर

नई दिल्ली: देश में कोरोना के नए और तेजी से फैल रहे Omicron वैरिएंट का संक्रमण बढ़ने के मद्देनज़र भारतीय रेलवे ने आवश्यकता पड़ने पर ऑक्सीजन एवं अन्य बड़े उपकरणों की सप्लाई के लिए कमर कस ली है। भारत के 21 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में अब तक Omicron संक्रमण के 653 केस दर्ज किए जा चुके हैं, जिनमें से 186 लोग रिकवर हो चुके हैं। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने मंगलवार को जारी किए गए आंकड़ों में यह जानकारी दी है। 

ओमिक्रॉन के महाराष्ट्र में सबसे अधिक 167 केस पाए गए हैं। इसके बाद दिल्ली में 165, केरल में 57, तेलंगाना में 55, गुजरात में 49 और राजस्थान में 46 केस दर्ज किए गए हैं। जानकारी के मुताबिक, रेलवे बोर्ड ने सभी जोनल महाप्रबंधकों को कहा है कि लिक्विड मेडिकल ऑक्सीजन (LMO) के परिवहन के लिए क्रायोजेनिक टैंकरों एवं कंटेनरों, ऑक्सीजन संयंत्रों आदि के परिवहन एवं राज्य सरकारों द्वारा फ्रेट एडवांस स्कीम को लेकर रेलवे की गाइडलाइन्स 15 जनवरी तक के लिए थी, मगर मौजूदा परस्थितियों को देखते हुए इसकी समीक्षा की गई और इन दिशानिर्देशों को तीन माह के लिए आगे बढ़ा गया है। 

इंडियन रेलवे ने जिन राज्यों में ऑक्सीजन की किल्लत थी, वहां इसकी आपूर्ति के लिए इस साल 18 अप्रैल को ऑक्सीजन एक्सप्रेस चलाने का आगाज़ किया था। लगभग 480 ऑक्सीजन एक्सप्रेस चला कर 35000 टन से अधिक ऑक्सीजन 15 राज्यों को पहुंचाई गई थी। रेलवे ने इसके अलावा 4000 से अधिक कोचों को कोविड केयर कोच में तब्दील करते हुए देश के अनेक शहरों में स्टेशनों पर तैनात किया था।

नेशनल हाईवे पर हुआ भयंकर हादसा, 2 लोगों की गई जान

मोइरंग में फहराया जाएगा भारत का सबसे ऊंचा राष्ट्रीय ध्वज: मणिपुर के मुख्यमंत्री

पाकिस्तान की भ्रष्टाचार रोधी संस्था का नया कानून कई हाई-प्रोफाइल मामलों को प्रभावित कर सकता है

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -