कोरोना का शिकार बन रहे मासूमों की जिंदगी बचने वाले डॉक्टर्स

न्यूयॉर्क: यहां दुनियाभर में लगातार बढ़ता जा रहा कोरोना का कहर मासूम लोगों की जान का दुश्मन  बन चुका है, हर दिन इस वायरस के कारण दुनियाभर में हजारों मौते हो रही है. वहीं लगातार संक्रमितों का आंकड़ा बढ़ता ही जा रह है, इतना ही नहीं अब तो कोरोना वायरस ने एक महामारी का रूप भी ले लिया है जिसके बाद से लोगों के घरों में खाने की किल्लत बढ़ती ही जा रही है न जाने इस वायरस के कारण और ऐसी कितनी मासूम जिंदगियां है जो तबाही के कगार पर आ चुकी है. वहीं अब तक दुनियाभर में मौत का आंकड़ा 3 लाख 29  हजार के पार हो चुका है और अभी भी इस वायरस का कोई तोड़ नहीं मिल पाया है. वहीं लोगों की जान बचने वाले डॉक्टर भी अब इस वायरस का शिकार होते जा रहे है. 

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार कोविड-19 वायरस से संक्रमित लोगों का उपचार करते हुए दुनिया भर में कई चिकित्सक स्वंय संक्रमित हो चुके हैं और ऐसे मामलों की तादात बढ़ती जा रही है. इसी कड़ी में अमेरिका में भारतीय मूल के एक चिकित्सक की यहां कोरोना वायरस के कारण मौत हो गयी. अमेरिकन फिजीशियंस आफ इंडियन ओरिजिन (एएपीआई) ने बुधवार को यह जानकारी दी.

जंहा इस बात का पता चला है कि एएपीआई के मीडिया समन्वयक अजय घोष ने एक बयान में बताया कि सुधीर एस चौहान कोविड-19 से संक्रमित पाये गए थे और पिछले कुछ सप्ताह से जीवन के लिए संघर्ष कर रहे थे. उनकी 19 मई को इस बीमारी से मौत हो गई. चौहान न्यूयार्क के जमैका अस्पताल में इंटरनल मेडिसिन फिजिशियन और एसोसिएट प्रोग्राम डायरेक्टर आईएम रेजीडेंसी प्रोग्राम थे. एएपीआई के अनुसार उनकी बेटी स्नेह चौहान ने कहा कि उनकी कमी हमेशा महसूस की जाएगी.

अमेरिका में बढ़ा कोरोना का खौफ, 24 घंटों में 1500 से अधिक मौत

क्या ऊदबिलाव से फैला था नया प्रकार का कोरोना वायरस ?

कोरोना संकट के बीच रद्द हुई इंग्लैण्ड के खिलाड़ियों की ट्रेनिंग

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -