अमेरिका को भारत का स्पष्ट जवाब, कहा - हम नहीं GSP के मोहताज

अमेरिका को भारत का स्पष्ट जवाब, कहा - हम नहीं GSP के मोहताज
Share:

नई दिल्ली: भारत ने स्पष्ट कर दिया है कि वह अमेरिका के जनरलाइज्ड सिस्टम ऑफ प्रीफरेंसेज (GSP) का मोहताज नहीं है और अपने निर्यात को प्रतिस्पर्धी बनाने का सामर्थ्य रखता है. वाणिज्य एवं उद्योग मंत्री पीयूष गोयल ने कहा है कि भारत अब इस किस्म की तरजीही व्यवस्था पर बल नहीं देगा और अपने निर्यात को प्रतिस्पर्धी बनाने का प्रयास करेगा. 

उल्लेखनीय है कि पिछले सप्ताह अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने जीएसपी के विशेष व्यापार कार्यक्रम से भारत का नाम हटाने का ऐलान किया था. यह 5 जून से प्रभावी हो गया है. अमेरिका ने कहा था कि भारत ने उसे अपने बाजार में बराबरी और तार्किकता के आधार पर पहुंच के लिए आश्वस्त नहीं किया है. भारत ने अमेरिका के इस कदम को 'दुर्भाग्यपूर्ण' करार दिया था. अमेरिका में जीएसपी समाप्त होने का मतलब यह हुआ कि भारत अब जिन उत्पादों को अमेरिका में बेचेगा उन सभी पर वहां की सरकार कर लगाएगी. अब तक भारत बगैर टैक्स के कुछ उत्पादों का निर्यात करता है.

अमेरिका के इस कदम को द्विपक्षीय संबंधों के लिहाज से तगड़ा झटका माना जा रहा है. एक रिपोर्ट के अनुसार भारत के केमिकल्स और इंजिनियरिंग जैसे सेक्टरों के लगभग 1800 से अधिक छोटे-बड़े उत्पादों पर जीएसपी का लाभ मिलता था. भारत जीएसपी के सबसे बड़े लाभार्थ‍ियों में से था और इसके तहत अमेरिका को गत वर्ष 6.35 अरब डॉलर (लगभग 44 हजार करोड़ रुपये) के उत्पाद का निर्यात किया गया था.

आरबीआई की रेपो रेट में कटौती का आम नागरिक पर पड़ेगा कुछ इस तरह से असर

'वेंकी मामा' के निर्माताओं ने पोस्टर के साथ किया ऐसे संदेश का खुलासा

आरबीआई ने की बड़ी घोषणा, रेपो रेट छह फीसदी से घटाकर 5.75 फीसदी किया गया

रिलेटेड टॉपिक्स
- Sponsored Advert -
Most Popular
मध्य प्रदेश जनसम्पर्क न्यूज़ फीड  

हिंदी न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_News.xml  

इंग्लिश न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_EngNews.xml

फोटो -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_Photo.xml

- Sponsored Advert -